इंग्लैंड: हार्दिक पांड्या के 51 रनों की पारी और साथ में गेंदबाजी में 4 विकेट की ऑल राउंड प्रदर्शन से यहाँ भारत ने 7 जुलाई को साउथम्पटन में खेले पहले टी-20 मुकाबले में इंग्लैंड को 50 रनों के अंतर से शिकस्त दी। विदेशी धरती पर रोहित की कप्तानी में टीम इंडिया का यह पहला मैच था, और टीम ने इसमें यादगार जीत हासिल की। पंड्या का या टी-20 अंतराष्ट्रीय में पहला पचासा था। वे क्रिकेट के इस छोटे फॉर्मेट में एक पारी में अर्धशतक और 4 विकेट लेने का कारनामा करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं और प्लेयर ऑफ द मैच बने।

रोहित ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। शुरू से ही पारी में जोरदार शॉर्ट्स देखने को मिले, बल्लेबाजों ने खुलकर स्ट्रोक्स लगाए। एक समय स्कोर 200 पार जाता दिखाई दे रहा था, पर अंत मे नियमित अंतराल पर विकेटों के पतझड़ से स्कोर 8 विकेटों के नुकसान पर 198 रहा।
रोहित शर्मा, दीपक हुड्डा और सूर्यकुमार यादव ने क्रमसः 24, 33 और 39 रनों की छोटी और महत्वपूर्ण पारी खेली। उसके बाद पंड्या मैजिक देखने को मिला, उन्होंने 30 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की। दिनेश कार्तिक और अक्षर पटेल ने भी पारी में छोटा योगदान दिया।
रन चेस में इंग्लैंड कभी करीब नही दिखा। पारी के पहले ही ओवर में इंग्लिश कप्तान जोस बटलर को भुवनेश्वर ने उनके शून्य के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर के जो झटका दिया, उससे इंग्लैंड टीम उबर ही नही पाई। जेसन रॉय ने 16 बॉल खेल कर मात्र 4 रनों का योगदान दिया औऱ पंड्या के शिकार बने। मोईन और हैरी ने कुछ स्कोर किये पर बढ़ते रन रेट के दवाब में आउट हो गए। चहल और डेब्यू करने वाले अर्शदीप ने 2-2 विकेट लिये।
हालाँकि, भारतीय फिल्डिंग काफ़ी खराब रही और 3 कैच छोड़ें। दिनेश कार्तिक, सूर्यकुमार और दीपक हुड्डा तीनों ने कैच छोड़े। अंततः मैच का परिणाम भारत के पक्ष में रहा।