रांची। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर ED के संकट के बीच अब कैबिनेट और विधानसभा के विशेष सत्र पर हर किसी की नजर होगी। खबर है कि 10 नवंबर को होने वाली हेमंत कैबिनेट की बैठक सौगातों से भरी होगी, जिसमें कई बड़े फैसले लिये जा सकते हैं। हेमंत सोरेन के खिलाफ जिस तरह से ED की तैयारी है, उससे साफ है की आने वाले दिनों में हेमंत सोरेन की मुश्किलें बढ़नी तय है। लिहाजा वो कुछ बड़े फैसले लेने की तैयारी में है।

झारखंड में पदों एवं सेवाओं की रिक्तियों में आरक्षण वृद्धि तथा 1932 अथवा उसके पूर्व के सर्वे खतियान के आधार पर स्थानीयता विधेयक विधानसभा के विशेष सत्र में पारित हो। जबकि, 12 नवंबर को सरायकेला खरसावां में आयोजित आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में भाग लेंगे। वहीं 14 नवंबर को स्थापना दिवस समारोह की समीक्षा की जाएगी। 15 नवंबर को झारखंड राज्य स्थापना दिवस समारोह में उपस्थित रहेंगे।

वहीं विशेष सत्र की बात करें तो झारखंड में 1932 के खतियान के आधार पर लोगों की नागरिकता तय करने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 11 नवंबर 2022 को झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित करने की घोषणा कर दी है। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। ईडी के समन के बाद हेमंत सोरेन सरकार अपने एजेंडों को लागू करने के लिए सक्रिय हो गई है। 11 नवंबर को झारखंड विधानसभा में स्थानीयता नीति पास कराया जाएगा।