रायपुर। पुलिस पर भ्रष्टाचार, घूसखोरी और ना जाने-जाने क्या आरोप लगते रहते हैं। आये दिन खाकी सवालों के घेरे में रहती है…लेकिन शनिवार को छत्तीसगढ़ के एक ट्रैफिक कांस्टेबल ने जो किया, उससे खाकी का कद काफी ऊंचा हो गया। राजधानी रायपुर के एयपोर्ट में तैनात कांस्टेबल पीतांबर सिन्हा को सड़क पर नोटों से भरा एक बैग मिला था। सुनसान सड़क पर दूर-दूर तक कोई नहीं था। चाहता तो, वो बैग खुद भी रख सकता था, लेकिन उसने उस बैग को अपने पास ना रखकर सीधे थाने लेकर पहुंच गया और फिर पुलिस में जमा करा दिया। बैग में रखी नोटों की गड्डियां जब थाने में गिनी गयी तो उसमें 45 लाख रूपये थे। 45 लाख रूपये बिना लोभ-लालच के जिस ईमानदारी से कांस्टेबल पीतांबर सिन्हा ने पुलिस थाने में जमा कराया, उसके बाद हर कोई कांस्टेबल की इमानदारी का कायल हो गया।

नीलांबर सिन्हा रायपुर के नयी राजधानी स्थित केयाबांधा थाना में पदस्थ है। रोड पर नोटों से भरा बैग सड़क पर पड़ा देख तो सीधे रायपुर के सिविल लाइन थाने पहुंचा और फिर एडिश्नल एसपी अभिषेक महेश्वरी और एएसपी सुखनंदन राठौर के सामने जमा करा दिये। कांस्टेबल की इमानदारी से एएसपी ने भी खुशी जताते हुए उसके लिए इनाम की घोषणा की है।

संसदीय सचिव ने कांस्टेबल को किया सैल्यूट

ईमानदारी की मिशाल पेश कर पूरे देश में छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करने वाले राजधानी रायपुर के पुलिसकर्मी नीलाम्बर सिन्हा को संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने सम्मानित किया। बता दे कि बीते दिन राजधानी रायपुर के माना एयरपोर्ट के पास 45 लाख रुपये से भरे हुए एक लावारिस बैग वहाँ ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मी नीलाम्बर सिन्हा को मिलने की खबर मिली थी। यदि वह पुलिसकर्मी चाहता तो इसकी जानकारी किसी को भी दिए बगैर वह उस धनराशि का उपयोग कर सकता था, लेकिन ईमानदारी की मिशाल पेश करते हुए नीलाम्बर सिन्हा ने तत्काल अपने शीर्ष अधिकारियों को इसकी सूचना दी और पैसों से भरे उस बैग को सुपुर्द कर दिया। विकास उपाध्याय आज उस ईमानदार पुलिसकर्मी का स्वागत करने स्वयं उसके कार्यक्षेत्र पहुँचे जहाँ नीलाम्बर सिन्हा को माला पहना और मिठाई खिलाकर सम्मानित किया और सुबह का नाश्ता साथ में किया। विकास उपाध्याय ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोगों में अपने मातृभूमि और कार्य के प्रति ईमानदारी,निष्ठा और समर्पण का भाव सदैव रहा हैं और यही भाव हम छत्तीसगढ़ियों की पहचान रही हैं। नीलाम्बर सिन्हा के द्वारा दिये गए इस ईमानदारी के परिचय से आज पूरे छत्तीसगढ़ का नाम देश में रोशन हो रहा हैं। साथ ही संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने यह भी बताया कि इस मामले को लेकर वे मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से चर्चा करेंगे और ईमानदार पुलिसकर्मी नीलाम्बर सिन्हा को प्रोत्साहन सम्मान प्रदान करने हेतु आग्रह करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.