मुंबई। आईपीएल के एलिमिनेटर मैच में लखनऊ की हार ने केएल राहुल की बैटिंग पर सवालिया निशान लगा दिया है। एलिमिनेटर मैच में लखनऊ सुपर जाइट्स को रोमांचक मैच में रायल चैलेंजर्स ने 14 रनों से हरा दिया। आरसीबी के दिये 208 रनों के लक्ष्य के जवाब में कप्तान केएल राहुल की धीमी बल्लेबाजी ने टीम की लुटिया डूबो दी।

हार का पूरा ठीकरा केएल राहुल के सर पर फोड़ा जा रहा है। कमेंटेटर भी राहुल को लगातार निशाने पर ले रहे हैं। आरसीबी की तरफ से विराट, फाफ डू प्लेसिस और मैक्सवेल सस्ते में आउट हो गये, लेकिन रजत पाटीदार ने बिना दवाब में आये 112 रनों की धमाकेदार पारी खेली और टीम को 200 के पास का स्कोर दे दिया।

उसके उलट केएल राहुल की पारी काफी निराशाजनक रही। शुरुआती झटके के बावजूद राहुल ने पारी संभाली, लेकिन स्कोर से ज्यादा वो अपनी विकेट बचाने में ही जुटे रहे। राहुल ने 58 गेंद पर 79 रनों की पारी खेली। अगर थोड़ी आक्रमकता राहुल ने और पहले दिखायी होती तो लखनऊ इस मैच को जीत सकता था। लेकिन 19वें ओवर में राहुल आउट हो गये और मैच टीम हार गयी।

बल्लेबाजी के आंकड़ों के मुताबिक टीम की तरफ से 43 डाट बाल खेली गयी, मतलब 7 ओवर में कोई भी रन नहीं बना। राहुल अगर कुछ संभलकर खेल रहे थे, तो दूसरी छोर पर आक्रामण होना था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। संजय मांजरेकर ने भी राहुल की धीमी बल्लेबाजी की आलोचना की थी।  

Leave a comment

Your email address will not be published.