पाकुड़। ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम की गिरफ्तारी पर एक तरफ जहां राजनीति गरम है, तो वहीं दूसरी तरफ पाकुड़ में आतिशबाजी की गयी। पाकुड़ के कारोबारी और ठेकेदार शंभू नंदन ने गिरफ्तारी पर खुशी जताते हुए जमकर पटाखे फोड़े और लोगों के बीच मिठाईयां बांटी। उन्होंने कहा कि टेंडर मैनेज करने का खेल काफी दिनों से चल रहा था। जांच एजेंसी ईडी ने राशि जब्त कर उनके पीएस और उनके नौकर के बाद मंत्री को भी गिरफ्तार किया है। इससे राज्य के हजारों व्यवसायी एवं संवेदक काफी खुश हैं।

 व्यवसायी शम्भू नंदन ने आरोप लगाया कि आलमगीर आलम के इशारे पर ही उन पर हमला हुआ था। हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने मंत्री आलमगीर आलम के मोबाइल से दी थी. उसके बाद टेंडर में भाग लेने पर उनके गुर्गों ने मारपीट भी की थी. इसी मामले को लेकर बरहरवा थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी। शंभू नंदन ने कहा कि उन्हें यकीन था कि दोषी को सजा मिलेगी।

आज ईडी ने गिरफ्तार कर ये साबित कर दिया कि न्यायके रास्ते में देर है, लेकिन अंधेर नहीं है। उन्होंन उम्मीद जतायी है कि मंत्री की गिरफ्तारी के बाद अब ठेकेदार और व्यापारी राहत की सांस लेंगे और इमानदारी से अपना काम कर सकेंगे।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...