हैदराबाद : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी-20 सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला भारत ने 6 विकटों से अपने नाम कर लिया है। इस जीत के साथ ही 3 मैचों की इस सृंखला को भारत ने 2-1 के अंतर से जीत लिया है। पहले मैच के हार के बाद भारत ने जबरदस्त तरीके से वापसी करते हुए अंतिम के दोनों मैच में ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ दिया।

टॉस जीतकर रोहित शर्मा ने गेंदबाज़ी करने का निर्णय लिया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से ओपनर ग्रीन ने जबरदस्त बल्लेबाजी का नमूना पेश किया और मात्र 21 गेंदों का सामना करते हुए 52 रनों की बेजोड़ पारी खेली। अंतिम ओवरों में टीम डेविड ने 27 गेंदों में 54 रन और सैमस ने 20 बालों में 28 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली। इन दोनों की साझेदारी से ऑस्ट्रेलिया ने अंतिम 5 ओवरों में 63 रन कूट दिए। जिससे डेथ ओवरों में भारतीय टीम की बॉलिंग समस्या की कलई एक बार फिर खुल गयी। एक बार फिर अक्षर पटेल के गेंदों का जबाब ऑस्ट्रेलिया के पास नही था और उन्होंने 3 विकेट अपने नाम किये। पूरे 20 ओवर खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया टीम ने 7 विकेट के नुकसान पर 186 रन का टोटल खड़ा किया।

चेस करने उतरी भरतीय टीम को पहले ही ओवर में झटका लगा और केएल का विकेट खो दिया। रोहित भी ज्यादा कुछ खास नही कर सके और सस्ते में चले गए। उसके बाद मैदान पर सूर्यकुमार और विराट ने अपने तेवर दिखाए और मैदान के चारों और शॉर्ट्स खेले। इन दोनों में मिडिल ओवरों में लगभग 10 ओवरों में 100 से ज्यादा रन की पार्टनरशिप की। विराट ने 48 गेंदों में 63 रन तो वही सूर्या ने 69 रनों के लिए मात्र 36 गेंदों का सामना किया। अंत मे 16 बाल में 25 रन बना कर पंड्या ने भी जीत में भूमिका निभाई।


अपनी बेहतरीन पारी के लिए सूर्यकुमार यादव को प्लेयर ऑफ द मैच दिया गया। तो वही अक्षर पटेल को प्लेयर ऑफ द सीरीज अवॉर्ड दिया गया।
2021 से रन चेस करते हुए भारत ने 14 में से 13 मुकाबले को अपने नाम किया है। इस जीत के साथ ही भारत की ओर से रोहित शर्मा टी-20आई में दूसरे सबसे सफल कप्तान (33 जीत) बन गए है। उन्होंने कोहली (32 जीत) को पीछे किया।

अब भारत का अगला मुकाबला साउथ अफ्रीका से होगा जो 3 टी-20आई कि सृंखला खेलने के लिए भारत पहुँच चुकी है। सीरीज का पहला मुकाबला 28 सिंतबर को होगा।