भगवान शिव की आराधना का पावन महीना सावन आज से शुरू हो रहा है । धार्मिक मान्यता के अनुसार इस महीने का विशेष महत्व है, क्योंकि इसे भगवान शिव का महीना कहा जाता है । सावन की शुरुआत दो शुभ योग में हो रही है । सावन के पहले दिन ही विष्कुंभ और प्रीति का योग बन रहा है ।ऐसा माना माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव की पूजा करने से दोगुना फल मिलता है।

सावन महीने में पूजा करने से पूरी होती है मनोकामनाएं

ऐसी मान्यता है कि सावन मास में भगवान शिव की आराधना करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। हिंदू धर्म में सावन महीने का विशेष महत्व है ।सावन में प्रत्येक सोमवार भगवान शिव की पूजा करने से आपकी हर मनोकामना पूरी हो सकती है । इस साल श्रावण मास 14 जुलाई से 12 अगस्त तक रहने वाला है । सोमवार को भगवान शिव की पूजा के लिए बहुत खास दिन माना जाता है ।वहीं मंगलवार को घर की सुख समृद्धि के लिए मंगला गौरी व्रत किया जाता है । इस व्रत में देवी पार्वती की पूजा की जाती है । सावन महीने में हर दिन श्रद्धालुओं का तांता मंदिरों में लगा रहता है ।सभी शिवभक्त रुद्राभिषेक से लेकर विशेष पूजा अनुष्ठान कर भोले भंडारी को प्रसन्न करते हैं।।

सावन में सोमवारी

इस बार सावन में चार सोमवार पड़ेगा। आइए जानते हैं किन किन तिथि को सोमवार का संयोग है।

पहला सावन सोमवार – 18 जुलाई

दूसरा सावन सोमवार – 25 जुलाई

तीसरा सावन सोमवार – 1 अगस्त

चौथा सावन सोमवार – 8 अगस्त

8 अगस्त को सोमवार के दिन पुत्रदा एकादशी रहेगी, जो श्रद्धालुओं के लिए अति महत्वपूर्ण दिन है। 11 अगस्त को व्रत की पूर्णिमा और 12 को स्नान दान की पूर्णिमा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.