रांची। खदान लीज आवंटन मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व उनके भाई बसंत सोरेन के करीबियों की शैल कंपनियों पर आज हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। चीफ जस्टिस डा रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की बेंच में सुनवाई होगी। शैल कंपनियों के अलावे मनरेगा घोटाला मामले की भी सुनवाई होगी। इधर, झारखंड सरकार हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में है। हाईकोर्ट ने इस मामले को सुनवायी योग्य मानते हुए 79 पेज का अपना आदेश दिया था।

इससे पहले तीन जून को चीफ जस्टिस डा रवि रंजन व जस्टिस एसएन प्रसाद की अलादन ने सीएम को लीज आवंटित  करने और शेल कंपनियों में निवेश को लेकर दाखिल याचिका को सुनवाई के लिए योग्य माना था।

हालांकि इस मामले में राज्य सरकार की तरफ से आपत्ति जतायी गयी थी, कि उक्त याचिकाएं हाईकोर्ट के नियमानुसान दाखिल नहीं की गयी है। लेकिन हाईकोर्ट ने दलीलों को खारिज करते हुए आदेश में कहा कि प्रार्थी की ओर से मुख्यमंत्री और उनके भाई सहित अन्य करीबियों पर गंभीर आरोप हैं। ऐसे में किसी भी तकनीकी खामी के चलते इस मामले मे सुनवाई से अदालत अपना मुंह नहीं मोड़ सकती। अदालत इस मामले में मेरिट पर सुनवाई करेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.