पटना। डा कुमारी अर्चना को राज्य सरकार ने बर्खास्त कर दिया है। शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया। कुमारी अर्चना गया के टिकारी अनुमंडलीय अस्पताल में चिकित्सा पदाधिकारी के रूप पदस्थ थी। वो पिछले 6 सालों से लगातार ड्यूटी से गायब थी। 4 जून 2016 से ड्यूटी से गायब चल रही कुमारी अर्चन को राज्य सरकार ने कई बार ड्यूटी ज्वाइन करने का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन उन्होंने ज्वाइनिंग नहीं की, जिसके बाद अब राज्य सरकार ने उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया।

वहीं गया के अतरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा पदाधिकारी डा कविंद्र प्रसाद सिंह की बर्खास्तगी का फैसला राज्य सरकार ने वापस ले लिया है। राज्य सरकार ने उन्हें अनिवार्य सेवानिवृति दे दी थी, लेकिन हाईकोर्ट की तरफ से फैसला को रद्द करने के बाद राज्य सरकार ने 4 अगस्त से डा कविंद्र की सेवा को बहाल करने का फैसला लिया है।

राज्य कैबिनेट ने इस बात का भी फैसला लिया है कि आजादी के 75वीं वर्षगांठ के मौके पर विशेष छूट के तहत अच्छे आचरण करने वाले वाले कैदियों को रिहा किया जायेगा।बिहार में 11 नए रजिस्ट्री ऑफिस खोलने के लिए राज्य सरकार ने मंजूरी दे दी हे. कैबिनेट की शुक्रवार को हुइ्र बैठक में इसकी सहमति दी गयी. इसके तहत पटना जिले में तीन जगहों पर नये रजिस्ट्री कार्यालय होंगे. इनमें फतुहां, सपतचक और बिहटा में रजिस्ट्री ऑफिस स्थापित होगा.इसके अलावा बक्सर जिले के डुमरांव, बांका के अमरपुर, पश्चिम चंपारण के चनपटिया और लौरिया, समस्तीपुर जिले के शाहपुर पटोरी, कटिहार के मनिहारी, वेशालील के पातेपुर और पूर्णिया जिले के बनमनखी में नया अवर निबंधक कार्यालय खोला जायेगा.

Leave a comment

Your email address will not be published.