बांका। बिहार का एक बेटा गलवान घाटी में शहीद हो गया। ड्यूटी के दौरान जवान सुधांशु कुमार चौधरी एक हादसे का शिकार हो गये थे, जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान राजेश कुमार चौधरी ने दम तोड़ दिया। राजेश कुमार चौधरी, रजौन प्रखंड के सकहरा गांव के रहने वाले थे। साल 2020 में सुधांशु ने भारतीय सेना ज्वाइन की थी। सुधांशु की पोस्टिग गलवान घाटी में हुई थी, 21 अगस्त को गलवान घाटी में बायलर फटने से सुधांशु कुमार उर्फ राहुल गंभीर रूप से जलकर जख्मी हो गये थे। इसके बाद चंडीगढ़ में आनन-फानन में उन्हें भर्ती कराया गया था, जहां करीब दस दिन से लगातार इलाज चल रहा था। इस दौरान मंगलवार की रात इलाज के दौरान जवान शहीद हो गए।

घटना के बाद इलाके में शोक की लहर है। जवान सुधांशु कुमार चौधरी घर के इकलौते बेटे थे। हादसे के बाद से ही पिता राजेश कुमार चौधरी और मां संगीता देवी का रो रो कर बुरा हाल है। शहीद जवान के दादा अनंत कुमार चौधरी के मुताबिक भारतीय सेना की तरफ से 21 अगस्त की शाम को हादसे की सूचना दी गयी थी। हालत में सुधार नहीं होने पर 28 अगस्त को जवान के माता, पिता और चाचा चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गये थे। दो दिन बाद ही जवान सुधांशु कुमार चौधरी की शहादत की खबर आ गयी।

आज सुधांशु का शव उनके पैतृक गांव सकाहरा पहुंचेगा, जहां भारतीय सेना के जवानों की मौजूदगी में पूरे सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जायेगी। घटना के बाद से ही सकाहरा में लोगों का तांता लगा हुआ है। कुछ दिन पहले ही जवान सुधांशु अपने घर आया था। छुट्टी बिताने के बाद वो ड्यूटी पर लौटा था, इसी बीच ड्यूटी के दौरान हुए एक हादसे में जवान की शहादत हो गयी।

Leave a comment

Your email address will not be published.