दुमका। पेट्रोल डालकर लड़की को जिंदा जलाने वाले शाहरुख और मोहम्मद नई का केस कोई वकील नहीं लड़ेगा। दुमका जिला बार एसोसिएशन की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया है। जिला अधिवक्ता संघ के महासचिव राकेश कुमार यादव ने बताया कि गुरुवार को कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि जघन्य अपराध करने वाले शाहरूख हुसैन और मोहम्मद नईम का केस कोई वकील नहीं लड़ेगा।

बैठक में कहा गया कि नाबालिग को जिंदा जला दिया गया। इससे बर्बर वारदात कुछ और नहीं हो सकती। अपराध की प्रवृति को देखते हुए आरोपी को सख्त सजा मिलनी चाहिये। बार एसोसिएशन ने सामूहिक रूप से निर्णय लिया है कि कोई भी वकील दोनों आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा।

इधर अंकिता के मौत मामले में जांच पूरी रफ्तार से जारी है। पुलिस को जांच में जानकारी मिली है कि  बाईपास रोड स्थित पेट्रोल पंप से 22 अगस्त की रात दोनों दरिंदों ने बोतल में पेट्रोल खरीदा था और 23 अगस्त की सुबह शाहरुख ने एक नाबालिग के घर जाकर उसके उपर पेट्रोल छिंड़कर आग लगा दी थी।

पुलिस एक सप्ताह के भीतर कोर्ट में चार्जशीट सौंपने की तैयारी में है। पुलिस तेजी से साक्ष्य जुटा रही है, ताकि आरोपी की बचने की संभावना ना रहे।

Leave a comment

Your email address will not be published.