गोबिंदपुर(धनबाद)।…घूसखोरों की हिमाकत तो देखिये देश सेवा में लगे जवानों तक को लूटने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। ताजा मामला धनबाद जिले के गोबिंदपुर का है, जहां आनलाइन जमाबंदी चढाने के लिए एयरफोर्स अफसर से हल्का कर्मचारी ने 8 हजार रुपये रिश्वत की डिमांड कर दी। हल्का कर्मचारी ने रिश्वत के लिए एयरफोर्स अफसर को इस कदर परेशान किया कि उन्हें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेस और उपायुक्त धनबाद से गुहार लगानी पड़ गयी।

गोबिंदपुर अंचल कार्यालय में पदस्थ महिला हल्का कर्मचारी से एयरफोर्स अफसर के करीबी ने जब जमाबंदी चढ़वाने के लिए संपर्क किया तो महिला कर्मचारी ने बिना छिछक से सीधे पैसे की डिमांड रख दी। आपको बता दें कि गोबिंदपुर प्रखंड के उदयपुर मौजा में मुगमा के रहने वाली महिला की जमीन है। इस जमीन को आनलाइन कराने के महिला पिछले 5 माह से दफ्तर के चक्कर लगा रही थी। वायुसेना अधिकारी के करीबी ने इस सिलसिले में गोबिंदपुर अंचल कार्यालय से संपर्क किया तो महिला हल्का कर्मचारी ने वायुसेना अधिकारी के करीबी से पैसे की डिमांड कर दी।

एयरफोर्स के अधिकारी फिलहाल जम्मू में पोस्टेड हैं। इस मामले में अधिकारी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और धनबाद के डीसी संदीप सिंह को ट्विट किया है। अपने ट्वीट में एयरफोर्स अधिकारी ने लिखा है कि उनकी सास की जमीन आनलाइन कराने के लिए परिवार के सदस्य पिछले 5 महीने से अंचल कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। मंगलवार को जब हल्का तीन की राजस्व उप निरीक्षक से मुलाकात की तो उन्होने स्पष्ट कह दिया कि 8 हजार रुपये लगेंगे। महिला हल्का कर्मचारी ने ये भी बताया कि वो 50 लाख रूपये देकर गोबिंदपुर में पोस्टिंग करायी है। पैरवी से काम नहीं होगा। आठ हजार रुपये देने पर 24 घंटे में काम हो जायेंगे। इस बात को सुनकर एयरफोर्स अधिकारी ने गोबिंदपुर के सीओ को फोन किया, जिसके बाद सीओ ने संबंधित व्यक्ति को उनके पास भेजने के लिए कहा। जब एयरफोर्स अधिकारी ने एक व्यक्ति को उनसे मिलने के लिए भेजा तो सीओ ने घंटों बैठाने के बाद भी उनसे मुलाकात नहीं की।

इधर इस मामले में गोबिंदपुर सीओ ने मामले के संज्ञान में नहीं आने की बात कही है। हालांकि बाद में उन्होंने इस मामले में हल्का कर्मचारी से जवाब तलब की बात कही है। ऐसे में अब मुख्यमंत्री और उपायुक्त को किये ट्वीट के बाद कार्रवाई को लेकर सभी नजरें टिकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.