मुंबई । महाराष्ट्र की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट के फैसलों पर टिक गई है। कल महाराष्ट्र विधानसभा में शक्ति परीक्षण होगा या नहीं होगा इस पर रात 9:00 बजे फैसला होगा। इससे पहले शाम 5:00 बजे से सुप्रीम कोर्ट में फ्लोर टेस्ट होने और न होने को लेकर शिंदे पक्ष और उद्धव ठाकरे के पक्ष की तरफ से अपनी-अपनी दलीलें सुप्रीम कोर्ट में पेश की गई। कोर्ट ने सभी की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है, जिस पर अब से कुछ देर बाद फैसला आना है। इससे पहले खबर यह भी आ रही है कि अगर कल फ्लोर टेस्ट की इजाजत सुप्रीम कोर्ट दे देता है तो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अपना इस्तीफा दे सकते हैं।

मुंबई की लड़ाई अब आखिर मुहाने पर पहुंच गयी है। खबर है कि उद्धव ठाकरे इस्तीफा दे सकते हैं। फ्लोर टेस्ट के पहले ही उद्धव ने इस्तीफा देने की प्लानिंग की है। आज कैबिनेट की बैठक में उद्धव ठाकरे ने अपने साथियों को इस बात की जानकारी दे दी है। माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट अगर फ्लोर टेस्ट की आज इजाजत देता है, तो विधायकों को संबोधित करने के बाद उद्धव ठाकने अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं। इधर सुप्रीम कोर्ट में फ्लोर टेस्ट को लेकर सुनवाई चल रही है। शिंदे और उद्धव गुट की तरफ से वकील अपना-अपना पक्ष रख रहे हैं। राज्यपाल की तरफ से फ्लोर टेस्ट के आदेश के खिलाफ शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया, जिसपर सुनवाई चल रही है।

इससे पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने 30 जून गुरूवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने और बहुमत साबित करने का आदेश दिया है। राज्यपाल ने शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट की पक्रिया को निपटाने को कहा है। हालांकि आज उद्धव ठाकरे के रूख से साफ है कि फ्लोर टेस्ट ना हो। फ्लोर टेस्ट के पहले ही उद्धव ठाकरे अपना इस्तीफा दे दें। इससे पहले मंगलवार को भाजपा विधायक व पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने राज्यपाल से मुलाकात की थी और फ्लोर टेस्ट की मांग की थी। इधर शिवसेना के बागी विधायक मुंबई लौट रहे हैं। वो सभी गोवा पहुंच चुके हैं, माना जा रहा है कि अगर कल फ्लोर टेस्ट की इजाजत दी जाती है तो कल सभी बागी मुंबई में पहुंच सकते हैं।

दूसरी तरफ एकनाथ शिंदे और बागी विधायक आज शाम या कल तक मुंबई लौट सकते हैं. शिंदे ने कहा है कि वे लोग कल फ्लोर टेस्ट में हिस्सा लेंगे.इससे पहले आज उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट की बैठक ली और तीन शहरों के नामों बदल दिये । कैबिनेट की बैठक में उद्धव ने अपने मंत्रिमंडल के साथियों को कहा कि उन्हें अपने लोगों ने धोखा दिया। बाद में जब वो मीडिया के सामने आये तो उद्धव भावुक हो गये । उद्धव ने अपन साथियों का शुक्रिया कहा। तभी से इस बात की अटकलें लगी है, कि मामला फ्लोर टेस्ट तक ना जाये। उद्धव पहले ही इस्तीफा दे सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.