नयी दिल्ली। सेना के जवानों और पुलिसकर्मियों को हनी ट्रैप में फंसाने की बड़ी साजिश चल रही है। राजस्थान में तैनात सेना का एक जवान एक ऐसी ही महिला पाकिस्तानी जासूस की हनी ट्रैप का शिकार हो गया। अपनी खुबसूरती और चिकनी-चुपड़ी बातों में फंसाकर महिला जासूस ने सेना के जवान से कई खुफिया जानकारी ले ली। खबर है कि सेना के जवान को इसके बदले पैसे भी दिये गये हैं। इस मामले में अब सेना के जवान को गिरफ्तार किया गया है।

24 साल के सेना के जवान को इंटेलिजेंस विंग ने गिरफ्तार किया गया है। आरोपी जवान का नाम शांतिमय राणा बताया जा रहा है। शांतिमय पश्चिम बंगाल के बांकुंड़ा जिले के कंचनपुर गांव का रहने वाला है। जयपुर के अर्टलरी यूनिट में उनकी तैनाती थी। राजस्थान इंटेलिजेंस के मुताबिक जवान पाकिस्तानी जासूस गुरनौर कौर उर्फ अंकिता और निशा के संपर्क में थे। देखने में बेहद खुबसूरत ये दोनों पाकिस्तानी जासूस ने पहले अपनी बातों में जवान को फंसाया और फिर उससे बातें करनी लोगी।

इस दौरान जवान महिला जासूस की बातों में में आ गा। महिला जासूस के कहने के मुताबिक वो उसे जानकारियां उपलब्ध कराया सकता है। जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया के जरिये शांतिमय राणा उन दोनों लड़कियों के संपर्क में आया था। दोनों लड़कियों ने शांतिमय से नंबर लिया था। दोनों उससे व्हाट्सएप काल पर बात करती थी, वहीं चैटिंग कर संपर्क में में रहती थी। दोनों ने पहले राणा का भरोसा जीता और फिर खुफिया जानकारी लेनी शुरू कर दी। इसके बदले राणा के खाते में लड़कियों ने कुछ पैसे भी ट्रांसफर किये थे।

जवान ने बताया- कैसे आया लड़कियों के संपर्क में

आरोपी जवान के मुताबिक वो 2018 में इंडियन आर्मी को ज्वाइन किया था। वो काफी पहले व्हाट्सएप चैट, वीडियौ और आडियो के जरिये महिला पाक एजेंट के संपर्क में थ्। महिला ने खुद को शाहजहांपुर यूपी की रहने वाली बता रही थी। महिला ने राणा को बताया कि वो वहीं मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज में काम करती है। दूसरी महिला ने अपना नाम निशा बताया था। उसने बताया था कि वो मिलिट्री नर्सिंग सर्विस में काम करती है। इन महिलाओं ने राणा से गोपनीय दस्तावेज, फोटोग्राफ्स, युद्धाभ्यास के वीडियो मांगे थे। राणा ने ये सारे वीडियो और दस्तावेज उस पाक एजेंट को भेज दिये।

Leave a comment

Your email address will not be published.