रांची। सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म बन गया है…जिसमें हल्के-फुल्के अंदाज में कुछ ऐसी गंभीर बातें भी कह दी जाती है, जो राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में छा जाता है। सोशल मीडिया पर ऐसा ही एक VIDEO बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। लकड़ी और कोलड्रिंक की बोतल से बने एक माइक के साथ स्कूली बच्चे रिपोर्टर की भूमिका में स्कूल की व्यवस्था और मास्टर जी की मनमानी की पोल खोलते दिख रहे हैं। झारखंड के गोड्डा के स्कूली बच्चों का ये वीडियो सोशल मीडिया में खूब ट्रेंड कर रहा है। सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो के बारे में दावा किया जा रहा है कि
झारखंड के गोड्डा जिले के महगामा गांव के खिमियाचक उत्क्रमित विद्यालय का है। और जो रिर्पोटर की भूमिका निभा रहा है, वह इसी विद्यालय का छात्र सरफराज है। बच्चे की उम्र करीब 12 वर्ष है। सोशल मीडिया में वायरल वीडियो पर अब तक हजारों लोग कमेंट कर चुके हैं।

रिपोर्टिंग करते छात्र

करीब ढ़ाई मिनट के इस वीडियो में देखा गया है कि नन्हा रिपोर्टर स्कूल में घूम-घूमकर बता रहा है कि स्कूल के टॉयलेट कैसे है, ना ही पीने के पानी की व्यवस्था है। इतना ही नहीं बच्चे ने शिक्षकों की मनमानी भी अपनी रिपोर्टिंग में दिखा दी कि कैसे स्कूल से शिक्षक हाजिरी बनाकर गायब हो जाते है। वहीं स्कूल में गंदगी का अंबार है। इसके साथ ही बताया कि क्लास रूम में जहां बच्चों को बैठना चाहिए वहां पशुओं के लिए चारा भरकर बाहर से बंद कर दिया गया है। मिड डे मील के लिए खाना बनाने वाली जगह पर गंदगी पसरी दिख रही है। सफाई नहीं होने के कारण स्कूल कैंपस खंडहर बन चुका है।

शिक्षक स्कूल से गायब ही रहते हैं

इस तरह स्कूल की कमी को सामने लाने के पीछे का कारण पूछने पर “रिपोर्टर बने छात्र” ने बताया कि काफी समय से स्कूल के हालात ऐसे ही है। कोई सुविधा नहीं है। बहुत से बच्चे स्कूल नहीं जाते और स्कूल के हालात ठीक नहीं है इसलिए ऐसा वीडियो बनाया। सरकार से स्कूल में सुरक्षा की मांग करते हुए सरफराज ने कहा कि उसके भाई और गांव के और बच्चों को सही से शिक्षा नहीं मिल रही है। इसलिए ऐसा करना पड़ा।

रिपोर्टर बने छात्र को मिली धमकी

वहीं इस वीडियो को वायरल करने और स्कूल का सच सामने लाने के बाद बच्चे ने बताया कि स्कूल के शिक्षकों ने उसके घर पर आकर उसे ऐसा नहीं करने को कहा और साथ ही उसकी मां को धमकाने की कोशिश की गई। सरफराज ने दावा किया है कि यह वीडियो जब से उसने बनाया है तब से स्कूल में बदलाव आना शुरू हो गया हैं। यह वीडियो वायरल होने के बाद सभी लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से इस नन्हे रिपोर्टर को बधाईयां दी और उसकी रिपोर्टिंग की सराहना की गई।

Leave a comment

Your email address will not be published.