रांची। झारखंड में आदिवासी युवती की हत्या कर शव लटकाने मामले पर अब राजनीति शुरू हो गया है। मामले ने उस वक्त तूल पकड़ लिया, जब मुख्यमंत्री ने इस पूरे मामले में गैर जिम्मेदारान बयान दे दिया। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से जब पत्रकारों ने दुमका में घटे इस घटना के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं तो होती रहती हैं, घटनाएं कहां नहीं होती हैं। सोरेन ने आगे कहा कि घटना तो बोल कर आता नहीं है। इस बयान ने विपक्ष को एक बार फिर सरकार को निशाने पर लेने का मौका दे दिया है। झारखंड के दुमका जिले में एक नाबालिग आदिवासी लड़की का शव पेड़ से लटका मिला है। पुलिस ने रविवार को इस संबंध में पॉक्सो एक्ट और एससी/एसटी एक्ट के तहत बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज किया है।

नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन वुमन (NFIW) की महासचिव एनी राजा ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की टिप्पणी की आलोचना की है।NFIW की महासचिव एनी राजा ने आलोचना करते हुए कहा कि वह सीएम के पद पर क्यों हैं ? उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं झारखंड में पहले भी हुआ है। लेकिन हेमंत सोरेन सीएम पद पर क्यों बैठे हैं ? वह यह सुनिश्चित करने के लिए हैं कि इस तरह की अभद्रता को रोका जाए। हमारे देश में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए कानून है। राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए कि राज्य के कानूनों को अक्षरशः लागू किया जाए और ऐसी घटनाओं को होने से रोका जाए।’

क्या है पूरा मामला

झारखंड के के दुमका जिले में एक नाबालिग आदिवासी लड़की का शव पेड़ से लटका मिला है। दुमका के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अंबर लाकड़ा ने कहा कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान अरमान अंसारी के रूप में हुई है। एसपी ने कहा कि पॉक्सो एक्ट और एससी/एसटी एक्ट के तहत बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज किया गया है। आरोपी अरमान अंसारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हम सबूत इकट्ठा कर रहे हैं और जल्द ही चार्जशीट दाखिल करेंगे। दुमका के एक खेत में शनिवार को एक किशोरी का शव पेड़ से लटका मिला था।

Leave a comment

Your email address will not be published.