गिरिडीह । बिना स्थानांतरण यात्रा भत्ता भुगतान किये होने वाले तबादले को लेकर कर्मचारी वर्ग आक्रोशित है। झारखंड राज्य शिक्षा विभाग अराजपत्रित कर्मचारी संघ ने राज्य सरकार को दो टूक कहा है कि अगर बिना स्थानांतरण यात्रा भत्ता दिये ही तबादला किया गया तो इसका संगठन की तरफ से पूरजोर विरोध किया जायेगा।

इस दौरान संघ के महासचिव अब्दुल रब अंसारी ने पूरे राज्य के लिपिकों के हर तीन साल में राज्यव्यापी तबादले का मुद्दा उठाया गया। इस बैठक में बोकारो, धनबाद, रामगढ़ और गिरिडीह के संघ के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। बैठक में राष्ट्रीय संगठन सचिव अशोक कुमार सिंह और प्रदेश महामंत्री अशोक कुमार सिंह (नयन) ने भी इस मुद्दे पर अपनी बातों को रखा। बैठक में हर तीन साल में लिपिकों के होने वाले तबादले से आर्थिक क्षति का जिक्र किया गया।

बैठक में इस बात का फैसला लिया गया कि अभ्यावेदन व पारस्परिक आवेदन की शत प्रतिशत सुनवाई कर लाभ दिलाया जाये। बैठक में ये भी कहा कि बाकी कर्मचारियों का ट्रांसफर आदेश के पूर्व अग्रिम स्थानांतरण यात्रा भत्ता भुगतान करने के बाद ही ट्रांसफर किया जाये। झारखंड राज्य शिक्षा विभाग अराजपत्रित कर्मचारी संघ की अगली बैठक अब 31 जुलाई को रांची में होगी।

आज की बैठक में 2400 ग्रेड पे, समाहरणालय लिपिकों की भांति पदोन्नति के आधार पर सभी विभागों के लिपिकों को लाभ देने पर खुशी जतायी गयी। बैठक में दो टूक कहा गया कि अगर शिक्षा विभाग के लिपिकों का स्थानांतरण यात्रा भत्ता दिये वगैर बिना अभ्यावेदन के ट्रांसफर किया गया तो संगठन पूरजोर विरोध करेगा। इस मामले में तत्काल संघ और महासंध की ओर से उच्च पदाधिकारी को विरोध पत्र भेजकर संज्ञान में लाया जा रहा है।

बैठक में संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष बमशंकर प्रसाद सिंह, प्रदेश कोषाध्यक्ष रंजीत रंजन, बोकारो जिला कोषाध्यक्ष अभिजीत कुमार सिंह, धनबाद जिला संयोजक साजिद अंसारी, रामगढ़ जिला संयोजक अमित कुमार चौधरी, गिरिडीह जिला कोषाध्यक्ष अनुज कुमार सिंह, धनबाद जिला के देवशंकर तिवारी, रामगढ़ जिला के विरेंद्र कुमार राय ने बैठक को संबोधित किया। बैठक में कई अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.