रांची। 26 जून की तारीख झारखंड के कर्मचारियों के इतिहास में यादगार बनने के संकेत दे रहा है। महासम्मेलन की तैयारी के बीच कयास इस बात के लग रहे हैं कि 26 जून को NMOPS के मंच से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन की बहाली का ऐलान कर देंगे। लिहाजा, कर्मचारी पूरे उत्साह के लबरेज हैं। प्रांतीय संगठन से निर्देश के बाद अब जिलास्तर पर भी महासम्मेलन में शिरकत करने के लिए तैयारियां शुरू हो गयी है। इधर NMOPS झारखंड के प्रांतीय अध्यक्ष विक्रांत कुमार सिंह ने एक बार फिर आह्वान किया है कि ज्यादा से ज्यादा की संख्या में महासम्मेलन में आयें और पुरानी पेंशन की बहाली की मांग को बुलंद करें।

अपने अपील में विक्रांत सिंह ने लिखा है…

पिछले चार वर्षों के सतत् संघर्ष के उपरांत आज हम सब निर्णायक संघर्ष की ओर अग्रसर हैं।
यदि आप पूर्व में आंदोलन में भागीदार रहे हैं तो इस महासम्मेलन में अपने संघर्ष को सफलता की ओर बढ़ते हुए देखने के लिए पहुंचे।और यदि पूर्व में आपकी कोई भूमिका नहीं रही है तो आप इसलिए इस महासम्मेलन प्रतिभाग करें ताकि बुढ़ापे में पेंशन लेते वक्त आप का सीना गर्व से चौड़ा हो जाए कि हमने संघर्ष के बलबूते इसे हासिल किया है।भविष्य में शायद ही कभी ऐसा अवसर मिले, जिसमें एक साथ हजारों कर्मचारी पूरे पेशेवर तरीके से अपने मुद्दे को लेकर संघर्ष कर रहे हों।प्रांतीय कमेटी का प्रयास है कि इस महासम्मेलन को आपके जीवन पर्यंत आपकी यादों में संजोए रखने लायक यादगार लम्हों के रूप में स्थापित किया जा सके।
इस बार रांची जाएंगे,
पेंशन लेकर आएंगे।

26 जून, हमारा जुनून ।
रद्द होगा काला कानून ।।

आपको बता दें कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बाद अब झारखंड के कर्मचारी भी पुरानी पेंशन को लेकर लामबंद हैं। लगातार रैली, ज्ञापन और सोशल मीडिया के जरिये पुरानी पेंशन की आवाज बुलंद हो रही है। इसी कड़ी में 26 जून को रांची में महासम्मेलन का आयोजन NMOPS के बैनर तले हो रहा है। इस आयोजन में खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी मौजूद रहेंगे। पूरी उम्मीद है कि कर्मचारियों के बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन चिर प्रतिक्षित पुरानी पेंशन बहाली का ऐलान कर दें। मांगें पूरी होने के उम्मीद के बीच प्रदेश भर से हजारों की संख्या में कर्मचारियों के रांची में जुटने की तैयारी में हैं। खुद प्रांतीय अध्यक्ष विक्रांत सिंह लगातार महासम्मेलन की तैयारियोंकी समीक्षा कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.