मुंबई । प्रधानमंत्री की सुरक्षा कितनी पावरफुल होती है, इसका अहसास आज मुख्यमत्री को भी हो गया और मंत्री को भी। दरअसल हुआ यूं कि आज प्रधानमंत्री मोदी आज महाराष्टई के दौरे पर थे। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात एसपीजी गार्ड ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की गाड़ी में तैनात उनके बेटे और कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे को उतार दिया। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अपने बेटे और मंत्री आदित्य के साथ पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए कोलाबा में नौसेना के हेलीपोर्ट आईएनएस शिकरा गये थे।

राजभवन के कार्यक्रम में पहुंचे प्रधानमंत्री की आगवानी करने के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे पहुंचे। जानकारी के मुताबिक आईएनएस शिखर बेस में पीएम मोदी की आगवानी करने वाले वीआईपी की सूची में आदित्य का नाम नहीं था। उसके बाद एसपीजी ने मुख्यमंत्री की कार से आदित्य ठाकरे को नीचे उतार दिया।

मुख्यमंत्री इसके बाद काफी परेशान हो गया। उन्होंने एसपीजी को कहा भी कि आदित्य ठाकरे उनके बेटे के तौर पर नहीं, बल्कि कैबिनेट मेत्री के तौपर पर आगवानी करने आये हैं, मुख्यमंत्री की नाराजगी के बाद आदित्य ठाकरे को एसपीजी ने अगुवानी की अनुमति दी।

उधर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री अजीत पवार को भाषण देना का ही मौका नहीं मिला। खबर है कि इससे एनसीपी काफी नाराज है। पार्टीकी सांसद सुप्रिया सुले ने इसे महाराष्ट्र का अपमान बताया है। मंच पर देवेंद्र फड़णवीस को भाषण देने का मौका मिला, लेकिन अजीत पवार को संबोधन के लिए नहीं मौका दिया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.