Jharkhand Loksabha Election: झारखंड में आज पहले चरण का चुनाव है। लोकसभा की 14 लोकसभा सीटों में से चार सीटों (LokSabha Elections 2024) यानी चाईबासा (सिंहभूम), खूंटी, लोहरदगा और पलामू के लिए आज चुनाव हो रहा है। इन चार सीटों में से एक मात्र पलामू सीट एससी के लिए रिजर्व है, जबकि शेष तीन सीटें एसटी के लिए रिजर्व हैं। वर्तमान में इन चारों सीटों में से सिंहभूम को छोड़कर बाकी सभी तीन सीटों पर बीजेपी का कब्जा है।

चाईबासा (सिंहभूम) लोकसभा सीट

बीजेपी ने 2019 में कांग्रेस के टिकट पर सिंहभूम सीट से जीतने वाली गीता कोड़ा को मैदान में उतारा है। वहीं झामुमो ने जोबा मांझी को प्रत्याशी बनाया है। सिंहभूम की सभी पांच विधानसभा (सरायकेला, चाईबासा, मझगांव, जगन्नाथपुर, मनोहरपुर और चक्रधरपुर) क्षेत्रों में झामुमो के विधायक हैं।

खूंटी लोकसभा सीट

खूंटी में सीधा मुकाबला बीजेपी के अर्जुन मुंडा और कांग्रेस के कालीचरण मुंडा के बीच है। वैसे यहां कुल सात प्रत्याशी किस्मत आजमाने चुनावी मैदान में उतरे हैं। बीजेपी प्रत्याशी और केंद्र में मंत्री अर्जुन मुंडा की ओर से मोदी की गारंटी की बात की जा रही है. कोरोना काल में हुए काम, राम मंदिर का निर्माण, युवाओं को कुशल बनाकर रोजगार के अवसर मुहैया कराना, एकलव्य विद्यालयों की स्थापना का जिक्र हो रहा है।

लोहरदगा लोकसभा सीट

लोहरदगा सीट पर वर्तमान में बीजेपी का कब्जा है. इस बार झामुमो के बागी विधायक चमरा लिंडा ने चुनाव को त्रिकोणीय बना दिया है। हालांकि राजनीतिक तौर पर मुकाबला कांग्रेस के सुखदेव भगत और बीजेपी के समीर उरांव के बीच है। यहां 59 प्रतिशत आदिवासी हैं, इनमें सबसे ज्यादा उरांव समाज के लोग हैं. दोनों प्रत्याशी उरांव समाज से आते हैं. रही बात मुद्दों की तो कांग्रेस बीजेपी पर पलायन, सरना धर्म कोड, बदहाल शिक्षा व्यवस्था और धर्म के नाम पर वोट मांगने का आरोप लगा रही है।

पलामू लोकसभा सीट

पलामू लोकसभा क्षेत्र में कुल छह विधानसभा सीटें हैं। इनमें से चार विधानसभा सीटों पर बीजेपी, एक पर झामुमो और एक पर एनसीपी का कब्जा है। इंडिया गठबंधन के तहत यह सीट आरजेडी के खाते में गई है। पार्टी ने ममता भुइंया को उम्मीदवार बनाया है। आरजेडी ने पलायन और सुखाड़ को मुद्दा बनाया है, इसके लिए उसने केंद्र की बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. इस सीट पर अंतिम बार उपचुनाव में आरजेडी प्रत्याशी घूरन राम की जीत हुई थी. इस बार घूरन राम बीजेपी में हैं. ममता भुइंया पहली बार चुनाव लड़ रही हैं। भुइंया अनुसूचित जाति बहुल इस इलाके में ममता भुइंया अपने वोट बैंक को एकजुट करने की कोशिश में जुटी है।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...