दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपा।उन्होंने निजी वजहों से इस्तीफा दिया है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार के साथ अक्सर उनके टकराव की खबरें सामने आती रहती थीं।

अनिल बैजल 1969 बैच के आईएएस ऑफिसर रहे हैं। वह दिल्ली के 21वें उपराज्यपाल बनाए गए थे। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वह केंद्रीय गृह सचिव के रूप में काम कर चुके हैं। गृह सचिव रहने के दौरान ही उन्होंने किरण बेदी पर कार्रवाई की थी और उन्हें हेड ऑफ जेल्स के पद से हटा दिया था। उनपर जेल के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप था।  

अनिल बैजल ने कई मंत्रालयों में महत्वपूर्ण पद संभाले। वह दिल्ली विकास प्राधिकरण के उपसचिव के रूप में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। साल 2006 में वह शहरी विकास मंत्रालय के सचिव पद से सेवानिवृत्त हुए थे। इसके बाद जवाहरलाल नेहरू नेशनल अर्बन रिन्यूअल मिशन से जुड़े रहे।

उन्हें 31 दिसंबर 2016 को दिल्ली का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया था। उन्होंने 31 दिसंबर 2021 को अपने कार्यकाल के 5 साल पूरे किए थे। हालांकि यहां ये बात ध्यान रखना जरूरी है कि दिल्ली में उपराज्यपाल का कार्यकाल निश्चित नहीं होता है। उनसे पहले दिल्ली के राज्यपाल नजीब जंग थे। 

Leave a comment

Your email address will not be published.