Ranchi झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) द्वारा विगत 3 जुलाई को आयोजित एसएससी जेई नियुक्ति परीक्षा को पेपर लीक और परीक्षा में धांधली के आरोप के कारण रद्द कर दिया गया है।रद्द किए जाने के बाद आगामी 21अगस्त को घोषित एसएससी संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा (JSSC Combined Graduate level Exam) पर भी अनिश्चितता के बादल गहरा गए हैं। सूत्रों के अनुसार आयोग द्वारा जो JSSC जेई नियुक्ति परीक्षा की जांच के लिए रांची के नामकुम थाना में दर्ज कराई गई प्राथमिकी के बाद पुलिस इसकी जांच कर रही है।

मुख्यालय डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में चल रही जांच में पेपर लिक की एक आरोपी रंजीत मंडल की उड़ीसा से गिरफ्तारी हुई है। सूत्रों के अनुसार रंजीत ने पूछताछ में पुलिस को अहम सुराग दिए हैं। पर्चा लीक और धांधली मामले में बाहरी लोगों के अलावा जेएसएससी द्वारा परीक्षा लेने के लिए नियुक्त एजेंसी के कर्मचारी भी जांच के घेरे में है।

झारखंड कर्मचारी चयन आयोग के सूत्रों ने बताया कि आयोग अभी स्थिति का आकलन कर रहा है। जेएसएससी सीजीएल परीक्षा को लेकर बहुत जल्द कोई फैसला होने की उम्मीद है। सूत्रों के अनुसार आयोग का मानना है कि जेईई परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद एजेंसी को जब तक पुलिस की जांच में क्लीन चिट नहीं मिल जाती तब तक सीजीएल परीक्षा का आयोजन कराना नए विवादों को जन्म दे सकता है। इसलिए परीक्षा का भविष्य पुलिस की जांच तय करेगा। जो संकेत मिल रहे हैं जांच रिपोर्ट आने में वक्त लग सकता है।

अलग-अलग पदों पर 956 पदों के लिए होनी है परीक्षा

मालूम हो कि 956 पदों पर नियुक्ति के लिए जेएसएससी सीजीएल परीक्षा का आयोजन आगामी 21 अगस्त को निर्धारित है। जेएसएससी की ओर से जारी विज्ञापन संख्या 5/ 2021 के अनुसार इस परीक्षा के माध्यम से सहायक प्रशाखा पदाधिकारी के 384, कनीय सचिवालय सहायक के 322 , प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के 245 और प्लानिंग असिस्टेंट के 5 पदों पर नियुक्ति की जानी है। आयोग के अनुसार सीजीएल परीक्षा में एक चरण में ली जाएगी। परीक्षा ओएमआर (OMR) सीट पर होगी सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ व बहु विकल्पीय आयुक्त होंगे। सही उत्तर के लिए 3 अंक मिलेंगे जबकि एक गलत उत्तर पर एक अंक कटेगा। कुल तीन पत्र होंगे पहला पत्र भाषा ज्ञान दूसरा पत्र जनजातीय क्षेत्रीय भाषा तथा तीसरा पत्र सामान्य ज्ञान का होगा प्रत्येक पत्र को हल करने के लिए 2 घंटे का समय मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.