मुंगेर। सिपाही को सरकार ने बंदूक चोर-लूटेरों को मारने की थमायी थी…लेकिन वो तो ससुराल पहुंचकर सास-ससुर और साले-साली पर धांय-धांय गोलिया चलाने लगा। इस घटना में ससुर की मौत हो गयी, वहीं साले की हालत गंभीर है। अजीबोगरीब ये मामला बिहार के मुंगेर का है। जहां एक सिपाही ने अपने ससुराल में ही अंधाधुंध फायरिंग कर दी। घटना के बाद सिपाही खुद ही थाना आया और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।

दरअसल सिपारी ने आंचल नाम की युवती के साथ लव मैरेज किया था। शादी के बाद आंचल से अनबन होने लगी, तो पत्नी मायके में आकर रहने लगी। विवाद की वजह से पत्नी वापस लौटने को तैयार नहीं थी।  जिसके बाद से सिपाही नाराज चल रहा था। जानकारी के मुताबिक बांका के ग्रामीण बैंक शाखा में गिरधर साव बतौर कैशियर पोस्टेड थे। आंचल उनकी ही बेटी थी, जिसकी शादी सिपाही सोनू कुमार के साथ हुई थी।

आंचल के मुताबिक सिपाही सोनू से उनका प्रेम विवाह हुआ था। शादी के बाद सोनू के साथ उसका लगातार विवाद होने लगा तो वो मायके में रहने लगी। ज्यादा दिन होने की वजह से सोनू एक दिन उनके पास आये और जबरदस्ती ले जाने की कोशिश करने लगे। जब घरवालों ने मना किया तो सिपाही आग बबूला हो गया और ससुराल पक्ष के लोगों पर गोलियां चलाने लगा। इस घटना में सुसर की मौत हो गयी, वहीं साला की हालत गंभीर है।

जानकारी के मुताबिक सिपाही सोनू जमुई में एसपी कार्यालय में पदस्थ था। घटना के एक घंटे बाद सिपाही ने कासिम बाजार थाना में सरेंडर कर दिया। पुलिस ने सिपाही के सर्विस रिवाल्वर को जब्त कर लिया है। परिजनों के मुताबिक सिपाही रात करीब 11 बजे सुसराल पहुंचा था और उसी वक्त विदा करने के लिए दवाब बनाने लगा। साला ने आकर समझाने की कोशिश की, तो दो गोली उसके उपर सोनू ने दाग दी, जिसके बाद वो जख्मी होकर गिर पड़ा। वहीं गोलियों की आवाज सुनकर ससुर कमरे में पहुंचे तो सर्विस पिस्टल से सिपाही ने उनके कनपटी में गोली मार दी, इससे मौके पर ही उनकी मौत हो गयी। यही सास पुनम पर भी दामाद ने गोली चला दी, किसी तरह से सास वहां से जान बचाकर भागी। घटना के बाद सिपाही सोनू वहां से भाग गया।  

Leave a comment

Your email address will not be published.