पटना। बिहार SSC के अभ्यर्थी आंदोलन पर उतारू हो गये हैं। अभ्यर्थियों ने ऐलान किया है कि खाली रह गये सीटों को भरने के लिए वेटिंग लिस्ट जारी करने की मांग की है। BSSC की प्रथम इंटर स्तरीय बहाली में 1778 अभ्यर्थियों के सभी पदों पर नियुक्ति करने। वेटिंग लिस्ट जारी करने और काउंसिलिंग की दूसरी लिस्ट जारी करने की मांग की है। 1778 बीएसएससी अभ्यर्थियों ने आयोग कार्यालय के बाहर बुधवार 27 जुलाई को एक बार फिर आंदोलन करेंगे।

जानकारी के मुताबिक प्रथम इंटर स्तरीय बहाली में 13120 पदों पर बहाली होनी थी, लेकिन 11329 अभ्यर्थियों का ही मेरिट लिस्ट जारी किया गया। जिसकी वजह से लगभग दो हजार सीटें खाली रह गयी। काउंसिलिंग करवा चुके 1778 अभ्यर्थियों को मेरिट से बाहर कर दिया गया जिसे लेकर नाराजगी देखी जा रही है। आरोप है कि फिजिकल के लिए इन लोगों को बुलाया ही नहीं गया. जबकि, इन लोगों की पद प्राथमिकता फिजिकल वाले पद ही थे।

आरोप के मुताबिक पद प्राथमिकता के आधार पर काउंसिलिंग के लिए नहीं बुलाया गया, जबकि उन्हें मार्क्स के आधार पर बुलाया गया। इस कारण जिनका मार्क्स ज्यादा था उनको टाइपिंग और फिजिकल दोनों के लिए बुलाया गया। वहीं, इनलोगों की पद प्राथमिकता इन पदों के लिए था ही नहीं। इनलोगों की पद प्राथमिकता राजस्व कर्मचारी एवं पंचायत सचिव था और चयन भी इन्हीं पद पर हो गया।इस कारण फिजिकल और टाइपिंग वाले पद खाली रह गए।फिजिकल के मात्र 40 सीटों के लिए मेरिट लिस्ट जारी हुआ। जबकि लगभग 650 सीटें खाली ही रह गई. अभ्यर्थियों का कहना है कि आठ वर्षों से हजारों अभ्यर्थी इस बहाली में लगे हुए हैं। हजारों ऐसे अभ्यर्थी हैं. जिनकी उम्र समाप्त हो गई। अब वे किसी भी सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म नहीं भर सकते। इन्हीं मांगों को लेकर पिछले सप्ताह 20 जुलाई को भी आंदोलन हुआ था।एक बार फिर 27 जुलाई को आंदोलन होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.