धनबाद सिंदरी में मारपीट और झड़प के 5 दिन बाद भी जख्मी ओपी प्रभारी हिमांशु कुमार को होश नहीं आया है। उनका इलाज दुर्गापुर मिशन अस्पताल में चल रहा है। बेटे की बिगड़ती तबीयत की वजह से परेशान मां ने व्हाट्सएप पर मैसेज भेज कर मदद की गुहार लगाई। मां ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि सरकार जल्द से जल्द बेटे का अच्छे संस्थान में इलाज कराएगी जिससे हिमांशु स्वस्थ हो सके और हम लोग के बीच आकर अपने काम पर लौट सके। हिमांशु की मां ने यह भी कहा कि पुलिस के अधिकारी अस्पताल भी नहीं आ रहे हैं। वहीं उसके बेटे पर हमला करने वाले पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। मां का कहना है कि हिमांशु वहां ड्यूटी के दौरान गंभीर हुआ था पुलिस की मदद करनी चाहिए।

हिमांशु की नाजुक हालत को देखते हुए उनके माता पिता और परिवार काफी परेशान हैं। माता पिता और परिवार ने जिला प्रशासन से जख्मी हिमांशु का कोलकाता, मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद ,चेन्नई के किसी बड़े अस्पताल में इलाज कराने की गुहार लगाई है। हिमांशु के परिवार के साथ झारखंड सरकार को पत्र देकर उनका बेहतर इलाज कराने की मांग की है। इधर हिमांशु कुमार की हालत गंभीर बताई जा रही है।परिजन उन्हें बाहर ले जाने की तैयारी कर रहे हैं।

कैसे हुई थी घटना

सिंदरी शहरपुरा बाजार में लक्की सिंह के कार्यालय पर 25 अगस्त को हुए हमले और हिंसक झड़प के दौरान सिर में चोट लगने से गंभीर रूप से ही हिमांशु घायल हो गए थे। भौंरा थाना प्रभारी हिमांशु कुमार को अब तक होश नही आया है। घटना के 6 दिन बाद भी भौंरा ओपी प्रभारी हिमांशु कुमार की मां ने अपने बेटे की जान बचाने के लिए गुहार लगाई है, और कहा है कि दुर्गापुर में मरने के लिए मेरे बेटे को छोड़ दिया गया है। एसएसपी संजीव कुमार कॉल तक रिसीव नहीं कर रहे हैं। बेटे का ढंग से इलाज नहीं हो रहा है। इधर घटना के दोषी उपद्रवी और हिंसक शक्ति प्रदर्शन मामले में दर्ज तीन एफआईआर के नामजद मुख्य आरोपी में से एक आंदोलन के नेतृत्वकर्ता खतिहानी आंदोलन की छूट भैया नेता जयराम महतो खुलेआम जनसभा को संबोधित कर रहा है।और पुलिस कहती है की आरोपी ढूंढ रहे हैं।

हिमांशु के इलाज में एसएसपी कर रहे हैं मॉनिटरिंग

दुर्गापुर के मिशन हॉस्पिटल में इलाजरत SI के बेहतर से बेहतर इलाज के लिए धनबाद के SSP संजीव कुमार और उसकी टीम एड़ी चोटी एक किए हुए हैं। हॉस्पिटल में भर्ती युवा SI हिमांशु कुमार का वहां चल रहे इलाज का एसएसपी स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे हैं।मंगलवार को एसएसपी संजय कुमार के निर्देश पर निरसा एसडीपीओ खरवार दुर्गापुर मिशन हॉस्पिटल में कैंप किए हुए थे। मंगलवार को हिमांशु की तबीयत बिगड़ने लगी, जानकारी मिलते ही एसएसपी ने निरसा SDPO को दुर्गापुर भेजा। मंगलवार को एसएसपी ने मिशन हॉस्पिटल के डॉक्टर से संपर्क किया है। डॉक्टर का कहना है की अभी पेशेंट अन्यत्र ले जाने की स्थिति में नहीं है, उसकी स्थिति में थोड़ा सुधार होने के पश्चात हीं उन्हें कहीं अन्यत्र ले जाया जा सकता है। हिमांशु को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए एसएसपी कोलकाता के आमरी हॉस्पिटल के न्यूरो सर्जन से भी संपर्क किया है।

जनसभा कर रहा है आरोपी जयराम महतो

पुलिस ने इस मामले में अब तक 90 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। जिसमें 3 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। वही भाषा आंदोलनकारी जयराम महतो की पुलिस तलाश कर रही है। जबकि जयराम खुलेआम जनसभा को संबोधित कर रहा है। इस घटना के समर्थन में कई तरह के तथ्य पेश किए जा रहे हैं। मंगलवार को कतरास कोयलांचल क्षेत्र में जयराम महतो झारखंड कांग्रेस उपाध्यक्ष जलेश्वर महतो की सभा में नजर आए थे,हालांकि वे मंच पर शामिल नहीं थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.