रांची 5 सितंबर शिक्षक दिवस के दिन झारखंड राज्य के लिए गर्व की बात है। झारखंड की शिक्षिका शिप्रा मिश्रा को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू सम्मानित करेंगे। जानकारी के मुताबिक इस पुरस्कार के लिए तीन शिक्षकों का नाम भेजा गया था। लेकिन अंतिम रूप से सिर्फ शिप्रा मिश्रा का ही चयन किया गया।

काफी मेहनती हैं शिप्रा मिश्रा

शिप्रा मिश्रा जमशेदपुर कदमा के टाटा वर्कर्स यूनियन प्लस टू हाई स्कूल की विज्ञान शिक्षिका हैं। जो 2010 बैच की शिक्षिका है। शिप्रा मूल रूप से बिहार के पूर्णिया जिले की रहने वाली है। राष्ट्रीय पुरस्कार में चयन होने पर शिक्षिका शिप्रा मिश्रा ने बताया कि इसके लिए उन्होंने काफी मेहनत की है। हमारा सहयोग छात्र-छात्राओं ने भी किया। जिसका परिणाम कक्षा की छात्रा नेहा सरदार का स्मार्ट विलेज का मॉडल विज्ञान प्रदर्शनी में राज्य स्तर का पुरस्कार जीत चुका है।

वर्ष 2019 में भी राज्य सरकार द्वारा सम्मानित की जा चुकी हैं शिप्रा

शिप्रा मिश्रा को साल 2019 में राज्य स्तर का शिक्षक पुरस्कार, साल 2020 में एन एम एल द्वारा बेस्ट साइंस टीचर अवार्ड भी मिल चुका है। स्कूल की प्रिंसिपल एस केरेकेटा ने बताया कि इस विद्यालय में सभी परिवार के रूप में है। हम लोग बेहद खुश हैं, यह गौरव की बात है कि हमारे स्कूल की शिक्षिका को राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने जा रहा है। विद्यालय में लगभग 350 छात्र-छात्रा हैं। वही स्कूल में केवल 5 शिक्षक हैं।शिक्षकों की कमी है जिस कारण B.ED के ट्रेनिंग वाले टीचर क्लास लेते हैं।

शिक्षिका के पुरस्कार मिलने पर छात्र भी खुश

अपने स्कूल के शिक्षिका को राष्ट्रपति के हाथों सम्मान मिलने से छात्र छात्राओं भी बेहद खुश है। छात्र-छात्राओं ने बताया कि शिप्रा मैडम हमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी पढ़ाती हैं। हमें प्रयोगशाला में प्रयोग पर समझाती हैं,और बताती हैं। हम लोग बेहद खुश हैं कि हमारे शिक्षिका को राष्ट्रपति पुरस्कार मिलने वाला है।

Leave a comment

Your email address will not be published.