पटना। राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान की पक्रिया चल रही है। बिहार में भी विधायक लगातार विधानसभा में वोट डालने के लिए पहुंच रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी मतदान किया है। उनके साथ पार्टी के कई विधायक भी विधानसभा पहुंचे और मतदान किया। सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक वोटिंग होगी, जिसके बाद बैलेट बाक्स को सील कर सीधे दिल्ली भेज दिया जायेगा। बिहार विधानसभा का लाइब्रेरी कक्ष में मतदान की प्रक्रिया चल रही है। जानकारी के मुताबिक करीब 80 फीसदी विधायकों ने वोट डाल दिया है।

मुख्यमंत्री नहीं डाल पायेंगे वोट
प्रदेश के सभी विधायक राष्ट्रपति चुनाव में मतदान करने के लिए पहुंच गये हैं। बिहार के दोनों उप मुख्यमंत्री ने भी वोट डाल दिया है। लेकिन, खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राष्ट्रपति चुनाव में मतदान नहीं कर सकेंगे। दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार विधानसभा के नहीं, बल्कि विधान परिषद के सदस्य हैं। विधान परिषद के सदस्यों को राष्ट्रपति चुनाव में वोट डालने का अधिकार नहीं होता है। लिहाजा नीतीश कुमार वोट नहीं डाल पायेंगे। मुख्यमंत्री के अलावे कई मंत्री भी मतदान नहीं कर सकेंगे।

इस बार राष्ट्रपति चुनाव में करीब का मुकाबला है। द्रौपदी मुर्मू और यशवंत सिन्हा के बीच कांटे का मुकाबला है। लिहाजा एक-एक वोट काफी अहम है। वोटिंग की अहमियत का अहसास इसी बात से लगाया जा सकता है, भाजपा विधायक मिथिलेश सिंह को वोटिंग के लिए स्ट्रेचर पर लाया गया। पिछले दिनों सड़क दुर्घटना का शिकार हुए विधायक मिथिलेश सिंह चल नहीं पा रहे हैं, लिहाजा वो स्ट्रेचर पर लेटकर वोट डालने पहुंचे और सहयोगियों की मदद से वोट डाला।

Leave a comment

Your email address will not be published.