देवघर: गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे के एक ट्वीट ने एक बार फिर राजनीतिक हलचल बढ़ा दी है। उन्होंने टि्वटर पर चुनाव आयोग की चिट्ठी साझा की है। इस चिट्ठी की शुरुआत की दो लाइनों को छिपा दिया गया है लेकिन इसकी बाकि की लाइनों के साथ निशिकांत दुबे ने लिखा, हेमंत सोरेन जी के बाद दूसरी ख़बर चुनाव आयोग से देवघर ज़िला में वोटर लिस्ट के रिवीज़न में वर्तमान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री को हटाने का आदेश है।

सांसद के ट्वीट पर बबाल

गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे के एक ट्वीट ने एक बार फिर राजनीतिक हलचल बढ़ा दी है। उन्होंने टि्वटर पर चुनाव आयोग की चिट्ठी साझा की है। इस चिट्ठी की शुरुआत की दो लाइनों को छिपा दिया गया है लेकिन इसकी बाकि की लाइनों के साथ निशिकांत दुबे ने लिखा, हेमंत सोरेन जी के बाद दूसरी ख़बर चुनाव आयोग से देवघर ज़िला में वोटर लिस्ट के रिवीज़न में वर्तमान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री को हटाने का आदेश है।

क्या है मामला


देवघर डीसी पर सत्ताधारी झामुमो के पक्ष में काम करने का आरोप लगा था। 17 अप्रैल, 2021 को देवघर जिले के मधुपुर विधानसभा का उपचुनाव हुआ था। इस चुनाव में उन पर एक पक्षीय काम करने का आरोप लगा था। निशिकांत दुबे के खिलाफ देवघर जिले के विभिन्न थानों में चुनाव अचार संहिता उल्लंघन को लेकर पांच अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज हुई थी । भाजपा ने इसके खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत की थी। 11 नवंबर को उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने आयोग को पत्र भेजकर बिना शर्त माफी मांगी थी। अब निशिकांत दुबे के एक और ट्वीट ने इस मामले को एक बार फिर हवा दे दी है।

सांसद और देवघर डीसी के बीच टकराव क्यों


एक अंग्रेजी वेबसाइट की मानें तो भजंत्री ने बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ 37 प्राथमिकी दर्ज करायी। यहां से इन दोनों के बीच टकराव की शुरूआत हो गयी। 31 अगस्त को इनके रिश्ते और खराब हो गये जब देवघर एयरपोर्ट पर सांसद निशिकांत दुबे उनके दो बेटों, बीजेपी सांसद मनोज तिवारी और कई अन्य लोगों के खिलाफ इजाजत के बगैर ATC बिल्डिंग में जाने का आरोप लगाया गया।

इस दौरान इन लोगों पर दिल्ली के लिए जबरदस्ती उड़ान भरने के लिए सम्बंधित क्लियरेंस का आरोप भी लगाया गया। इस बात को लेकर एयरपोर्ट पर तैनात सुरक्षा अधिकारी ने निशिकांत दुबे सहित कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दिया गया। निशिकांत दुबे ने भी देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री के खिलाफ दिल्ली में जीरो एफआईआर दर्ज करवा दी।