जमशेदपुर: डुमरिया के अंचल अधिकारी रामनरेश सोनी का हृदय गति रुकने से आज सुबह आकस्मिक निधन हो गया । तबियत खराब होने पर सोनी को टीएमएच लाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया । टीएमएच में उपायुक्त समेत सभी पदाधिकारी मौजूद रहे। पार्थिव शरीर को एमजीएम मेडिकल कॉलेज में पास्टमार्टम कराया गया । मूल निवासी हमीरपुर, उत्तर प्रदेश के रहने वाले 42 वर्षीय श्री रामनरेश सोनी अपने पीछे भरा-पूरा छोड़ गए हैं । पांच भाईयों में सबसे छोटे श्री सोनी की पत्नी एवं उनके दो बच्चे(एक बेटी, एक बेटा) मुसाबनी में साथ रहते थे । परिवार में मां हैं, पिता का निधन हो चुका है ।

झारखंड प्रशासनिक सेवा तृतीय बैच के अधिकारी राम नरेश सोनी डुमरिया अंचलाधिकारी के साथ-साथ मुसाबनी अंचलाधिकारी के भी अतिरिक्त प्रभार में थे। जून 2022 में एसडीओ के पद पर प्रोन्नत किए गए। उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य और दिल्ली से सामाजिक विज्ञान में मास्टर डिग्री ली। साल 2010 में एटीआई में प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग बीडीओ सह सीओ सतबरवा प्रखंड पलामू, मेदिनीनगर सदर अंचल अधिकारी, साहिबगंज अंचल अधिकारी, अंचल अधिकारी चास के पद पर पदस्थापित रहे थे।

दिवंगत सीओ राम नरेश सोनी

समाहरणालय सभागार में आयोजित शोकसभा में सभी पदाधिकारी एवं कर्मियों ने दो मिनट का मौन रख दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी । उपायुक्त ने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि इस दु:ख के समय में पूरा जिला प्रशासन उनके साथ है। उन्होने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे नौजवान एवं काबिल अधिकारी का असमय चले जाना काफी दु:खदायी है। जिला प्रशासन के लिए यह अपूरणिय क्षति है ।

शोक सभा के पश्चात सभी कार्यालयों में औपचारिक रूप से छुट्टी कर दी गई। जिला प्रशासन की ओर से सभी पदाधिकारी एवं कर्मियों द्वारा पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता दी।