कृषि मंत्री ने किया 24×7 पेट क्लिनिक का उद्घाटन

राज्य के पशुपालकों को जल्द मिलेगी 24×7 चिकित्सा

राजधानी रांची में जल्द ही खोला जायेगा मॉडल पशु अस्पताल

रांची। कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग, मंत्री बादल ने हेसाग, हटिया अन्तर्गत नवनिर्मित पशुपालन निदेशालय भवन, ऑडिटॉरीयम, पेट क्लिनिक का 24×7 का उद्घाटन किया गया। उन्होंने पशुपालन की गतिविधियों से पशुपालकों, जनप्रतिनिधियों आदि को अवगत कराने के लिए एक कार्यशाला का भी उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि पशुपालकों को 24×7 चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए तत्काल जिला पशुपालन कार्यालय, राँची में पेट क्लिनिक की सेवा प्रारंभ की गई है। उन्होंने बताया कि राजधानी रांची में जल्द ही मॉडल पशु अस्पताल खोला जायेगा, जिसमें सभी प्रकार की सुविधाएं पशुपालकों को मिलेगी और राज्य के सभी जिलों में 24×7 पशु चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।उन्होंने कार्यक्रम में शामिल सभी जिलों के जिला परिषद् अध्यक्ष एवं उपाध्यक्षों को मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना सहित अन्य योजनाओं के महत्व से अवगत कराया।

इस अवसर पर श्री बादल द्वारा कुछ चयनित लाभुकों को कुक्कुट तथा बत्तख की योजनाओं के अन्तर्गत परिसम्पत्तियों का वितरण किया गया। उन्होंने विगत एक वर्षों में अनुकम्पा के माध्यम से नियुक्त कर्मियों को सांकेतिक रूप से नियुक्ति पत्र का वितरण किया। कृषि मंत्री ने मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के संचालन की तकनीकी पहलुओं की जानकारी दी। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता के लिए सहयोग का आश्वासन दिया।

कार्यक्रम में श्री बादल द्वारा राज्य के पशुपालकों के लिए पशुपालन से संबंधित विषय जैसे मुर्गी पालन, बकरी पालन, सूकर पालन की मार्ग-दर्शिका एवं राज्य जीव जन्तु कल्याण बोर्ड से संबंधित नियम- अधिनियम की पुस्तिका का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में समेकित कृषि तथा पशुपालन के विकास तथा इसके लाभों पर श्री शरद कुमार झा, काउंसलर, इंग्लैंड के द्वारा प्रकाश डाला गया।

कार्यक्रम में पशुपालन विभाग के उप-निदेशक डॉ एन०के० झा, गव्य विभाग के उप-निदेशक डॉ मनोज कुमार तिवारी, विशेष सचिव प्रदीप हजारी, मत्स्य के निदेशक एच०एन० दूबे,  संयुक्त निदेशक (कु०) डॉ मनोज कुमार सहित अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

की मार्ग-दर्शिका एवं राज्य जीव जन्तु कल्याण बोर्ड से संबंधित नियम- अधिनियम की पुस्तिका का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में समेकित कृषि तथा पशुपालन के विकास तथा इसके लाभों पर शरद कुमार झा, काउंसलर, इंग्लैंड के द्वारा प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में पशुपालन विभाग के उप-निदेशक डॉ एन०के० झा, गव्य विभाग के उप-निदेशक डॉ मनोज कुमार तिवारी, विशेष सचिव प्रदीप हजारी, मत्स्य के निदेशक एच०एन० दूबे,  संयुक्त निदेशक (कु०) डॉ मनोज कुमार सहित अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.