रांची। पूर्व विधायक गुरुचरण नायक पर हमला व दो पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में NIA ने चार्जशीट दायर कर दिया है। भाजपा के पूर्व विधायक पर हमला मामले की NIA जांच कर रही थी। जांच में खुलासा हुआ था कि माओवादी नेता शाका उर्फ तिवारी बांकिरा भाकपा (माओवादी) का एक सशस्त्र कैडर था और उसने हमले के लिए अन्य सह-आरोपियों के साथ मिलकर साजिश रची थी। इस मामले में एक टॉप माओवादी नेता को गिरफ्तार किया था।

दरअसल 4 जनवरी 2022 को पूर्व विधायक गुरुचरण नायक गोयलकेरा के झिलरूआ गांव में एक फुटबॉल प्रतियोगिता में अतिथि बन कर गए थे। ग्राम विकास समित के द्वारा आयोजित प्रतियोगिता के दौरान नक्सलियों ने हमला कर दिया था। नक्सली हमले में गुरूचरण नायक किसी तरह से बच गये, लेकिन सुरक्षा में तैनात दो पुलिसकर्मी शहीद हो गये। एक अंगरक्षक गंभीर रूप से जख्मी हुआ था। इस हमले में माओवादियों ने अंगरक्षकों की हथियार भी लूट लिया था।

इस मामले में गोइलकेरा पुलिस स्टेशन, जिला पश्चिमी सिंहभूम, झारखंड में दर्ज किया गया था और बाद में एनआईए ने जांच को अपने हाथ में ले लिया था। एनआईए जांच से पता चला है कि हमले की प्लानिंग माओवादियों ने कई दौर की बैठक के बाद लिया था। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी भी बैठक में मौजूद था। आरोपी व्यक्ति संगठन में युवकों की भर्ती और ट्रेनिंग का काम देखता था। इस मामले में आगे की जांच जारी है।