जमशेदपुर: झारखंड के प. सिंहभूम के नक्सल प्रभावित जटिया में विश्वकर्मा पूजा विसर्जन जुलूस के दौरान एसपीओ का अपहरण कर हत्या कर दी गयी और गुप्तांग को काट शव को हथनाबेड़ा जंगल में पेड़ से लटका दिया गया। ग्रामीणों की सूचना पर सोमवार सुबह जंगल में पेड़ से लटकता शव जटिया पुलिस ने बरामद किया। घटना रविवार रात जटिया थाना क्षेत्र के हथनाबेड़ा गांव की है। कार्तिक नायक हथनाबेड़ा गांव का ही रहनेवाला था और जटिया थाना में बतौर एसपीओ तैनात था। फिलहाल, पुलिस घटना को आपसी रंजिश बता रही है।

सुबह लकड़ी काटने गये लोगों ने देखा शव 

हथनाबेड़ा गांव के लोगों ने बताया कि कुछ लोग जंगल में लकड़ी काटने गये तो एक ग्रामीण का शव पेड़ से लटका देखा। उन्होंने इसकी सूचना गांव के मुंडा राम पूर्ति को दी और उन्होंने जटिया थाना प्रभारी विपिन महतो को जानकारी दी।

घटनास्थल पर पहुंचे एसडीपीओ व थानेदार 

मुंडा की सूचना पर थाना प्रभारी विपिन महतो के साथ-साथ जगन्नाथपुर एसडीपीओ ईकुड डुंगडुंग भी घटनास्थल पर पहुंचे और जांच की। पुलिस के मुताबिक आपसी विवाद में कार्तिक की लाठी से पीटकर हत्या की गयी और शव को पेड़ पर लटका दिया गया। उसके गुप्त अंग भी काट दिये गये। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है।

विसर्जन जुलूस के दौरान हुआ अपहरण 

ग्रामीणों ने बताया कि रविवार को कार्तिक नायक विश्वकर्मा पूजा के विसर्जन जुलूस में शामिल था। जुलूस के दौरान ही अज्ञात लोगों ने कार्तिक का अपहरण कर लिया और पीट-पीटकर हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को हथनाबेड़ा जंगल में पेड़ से लटका दिया। फिलहाल, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चाईबासा भेज दिया है। प. सिंहभूम के जगन्नाथपुर के एसडीपीओ ईकुड डुंगडुंग ने कहा कि यह नक्सली घटना नहीं है। हत्या आपसी रंजिश के कारण की गयी है, बाकी जानकारी पोस्टमार्टम के बाद ही मिल पायेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.