रांची । झारखंड मंत्रालय में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे हैं। कोविड-19 संक्रमण के बाद यह पहली बार हो रहा है जब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ आमने-सामने बैठकर विधि व्यवस्था की समीक्षा बैठक कर रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, मीटिंग में हाल के दिनों में नक्सल फ्रंट पर पुलिस को मिली कामयाबी को सीएम ने ऐतिहासिक बताया है। दूसरी तरफ राज्य के जिलों में महिलाओं को लेकर हुए मामले को लेकर सीएम ने चिंता जताई है।

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक देर शाम तक चलने की उम्मीद है। मीटिंग खत्म होने के बाद ही पूरे मामले की जानकारी हासिल हो पाएगी। इस बैठक में झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा, सभी एडीजी, आईजी, डीआईजी के साथ-साथ राज्य के सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक भी शामिल है। सभी जिलों के एसपी को यह निर्देश दिया गया है कि वह अपने जिलों के डाटा पूरी तरह से कंप्लीट करके बैठक में शामिल हो ताकि सीएम को किसी मामले की जानकारी देने में पुलिस अधीक्षकों को कठिनाई का सामना ना करना पड़े।

संसाधनों को लेकर भी चर्चा के आसार

झारखंड पुलिस के द्वारा नक्सल अभियान में लगातार सफलता अर्जित की गई है। लेकिन दूसरे कई मोर्चे पर पुलिस फेल नजर आती है। इसके पीछे संसाधनों की कमी को भी कारण बताया जाता है। ऐसे में मुख्यमंत्री की मीटिंग में सभी जिलों के एसपी अपने-अपने जिलों में मिले संसाधन को लेकर भी चर्चा कर सकते हैं। इन सभी मामलों को लेकर गृह सचिव और डीजीपी के द्वारा भी मुख्यमंत्री के सामने बातें रखी जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.