कोडरमा : जिले में एक झोलाछाप नर्स की करतूत सामने आई है, जहां प्रसव के दौरान एक नवजात की मौत हो गई है। यह मामला तिलैया थाना क्षेत्र के पानी टंकी रोड का है। एक मकान में निजी क्लीनिक चला रही नर्स शकुंतला देवी ने महिला को सुरक्षित प्रसव कराने का आश्वासन देकर पहले क्लीनिक बुलाया और भर्ती किया। इसके बाद प्रसव के दौरान नर्स ने लापरवाही की, जिससे बच्चे की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने आरोपी झोलाछाप नर्स को गिरफ्तार कर लिया है।

महिला के परिजनों को जब जानकारी मिली कि उसके बच्चे की मौत हो गई है तो परिजन ने जमकर हंगामा किया। हंगामा की सूचना मिलते ही तिलैया थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस ने झोला छाप नर्स व शकुंतला देवी को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है।

जानकारी के अनुसार चंदवारा के भोंडो के रहने वाले देवनंदन कुमार अपनी पत्नी बबीता देवी को प्रसव पीड़ा होने पर नॉर्मल डिलीवरी कराने के लिए शकुंतला देवी के पास लेकर आए। 18000 रुपए में नॉर्मल डिलीवरी कराने की जिम्मेदारी नर्स शकुंतला देवी ने ली। प्रसव पीड़ा होने पर नर्स ने महिला को 2 इंजेक्शन लगाया। इसके बाद अपने एक सहयोगी के साथ प्रसव कराने में लग गई ।लेकिन जब प्रसव हुआ तो बच्चा मृत पाया गया। महिला के पति देवनंदन कुमार ने बताया कि शकुंतला देवी ने अलग-अलग तरह के 2 इंजेक्शन लगाए थे। महिला के पति ने नर्स पर बच्चे की जान लेने का आरोप लगाया है। नर्स शुकंतला देवी ने ये स्वीकार किया है कि महिला को 2 इंजेक्शन लगाया गया था लेकिन बच्चे की मौत कैसे हुई, यह पता नहीं चला। फिलहाल,पुलिस आरोपी नर्स से पूछताछ कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.