तथ्य विशेष : धरती पर मौजूद हीरा को सबसे महंगी चीजों में शामिल किया जाता है। इसका इस्तेमाल गहने बनाने और कांच काटने जैसे दूसरे कामों में किया जाता है। साइंस में आपने पढ़ा होगा कि हीरा धरती पर मौजूद सबसे कठोर पदार्थ है जो कि कार्बन का एक सॉलिड फॉर्म है । हीरा कार्बन का सबसे शुद्धतम रूप कहलाता है। इस ट्रांसपेरेंट रत्न के आर पार आसानी से देखा जा सकता है। हीरे से जुड़ी कुछ बातें अपने जरूर सुनी होंगी जैसी कुछ लोग मानते हैं कि अगर कोई शख्स हीरे को चाटता है तो इससे उसकी मौत हो जाती है आइए जानते हैं इस बात में कितनी सच्चाई है…

हीरा से जुड़ा मिथक

कई लोग आज भी इस बात को मानते हैं कि हीरे को चाटने से इंसानों की मौत हो जाती है। बता दे की ऐसा नहीं होता है। क्योंकि हीरा जहरीला पदार्थ नहीं है। हालांकि इस बात की पूरी संभावना है कि हीरा निगलने से अब खतरा जरूर हो सकता है। फिर वह उस शख्स के लिए जानलेवा बने, इसकी उम्मीद बहुत ही कम की जाती है।

क्यों हीरा बन जाता है इतना कठोर

कार्बन से बने हीरे की कठोरता का राज उस की रासायनिक संरचना है। जिसमें कार्बन के परमाणु आपस में बहुत मजबूती से एक दूसरे से जुड़े होते हैं। इसमें कार्बन का एक परमाणु कार्बन के अन्य चार परमाणुओं से जुड़ा होता है और सम चतुरफलक ज्यामिति संरचना का निर्माण करता है। हीरे के नाप की बात की जाए तो इसका एक कैरेट करीब 200 मिलीग्राम के बराबर होता है। अगर किसी को लगता है कि वह हीरे को दांतो से चबा कर उसे तोड़ सकता है, तो बता दे कि ऐसा करना नामुमकिन है।