रांची। झारखंड ssc ने जूनियर इंजीनियर की परीक्षा रद्द कर दी है। इसी महीने 3 जुलाई को झारखंड एसएससी ने प्रदेश के रांची, बोकारो और पूर्वी सिंहभूम के अलग-अलग केंद्रों में डिप्लोमा स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा ली थी। एसएससी की ओर से जल्द ही परीक्षा की दूसरी तारीख जारी की जायेगी। इस बाबत एसएससी ने सूचना जारी कर दी है। सूचना आयोग के परीक्षा नियंत्रक के हस्ताक्षर से जारी किया गया है. परीक्षा किन कारणों से रद्द की गयी है, इसका खुलासा आयोग द्वारा नहीं की गयी है।

इस मामले में अभ्यर्थियों ने पर्चा लीक का आरोप लगाया था

आपको बता दें कि पिछले दिनों पर्चा लीक के आरोप के बाद अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया था। इस मामले में एसएससी की तरफ से पर्चा लीक मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया था। भाजपा ने मामले को लकर सरकार पर गंभीर आरोप लगाये थे। भाजपा ने इस पूरे प्रकरण उच्चस्तरीय जांच के साथ-साथ आयोजित परीक्षाओं को लेकर भी सरकार पर सवाल खड़े किये थे।

1289 पदों पर 3 जुलाई को प्रदेश के तीन सेंटरों पर परीक्षा आयोजित की गयी थी। डिप्लोमा स्तरीय ये परीक्षा OMR सीट पर ली गयी थी। बोकारो में इस मामले को लेकर परीक्षार्थियों ने शिकायत भी की थी, लेकिन शिकायतों को विभाग ने गंभीरता से नहीं लिया।

राज्य सरकार ने पीएचई, इरीगेशन, नगर विकास, सिविल, यांत्रिकी और विद्युत के डिप्लोमा स्तरीय 1289 पदों पर जूनियर इंजीनियर के लिए परीक्षा ली थी। अभ्यर्थियों ने आयोग को लिखित रूप से पेपर लिक की शिकायत करते हुए परीक्षा को रद्द करने की मांग की। इसके लिए धरना-प्रदर्शन किया गया. बाद में अभ्यर्थियों ने नामकुम थाना में भी शिकायत दर्ज करायी थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पेपर लिक की जांच शुरू की। पेपर लिक करने के आरोपी को गिरफ्तार किया गया. इसकी जांच रिपोर्ट पुलिस ने आयोग को भेज दी।

आरोप है कि नियुक्ति विज्ञापन में परीक्षा सीबीटी मोड में लेने की बात कही गयी थी, लेकिन अचानक से ओएमआर शीट पर परीक्षा ली गयी। अभ्यर्तियों ने ये भी आरोप लगाया कि विभिन्न गिरोह द्वारा अभ्यर्थियों से फोन पर 18-20 लाख रूपये डिमांड किये गये। सोशल मीडिया में आडियो क्लिप भी वायरल हो रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.