रांची : झारखंड स्टाफ सेलेक्शन कमीशन ( JSSC) की ओर से राज्य में जूनियर इंजीनियरों की नियुक्ति के लिए बीते 3 जुलाई को आयोजित परीक्षा में पेपर लीक होने के मामला सामने आया था। जिसकी जांच पड़ताल के बाद इस बात की पुष्टि हो गई है की पेपर लीक की बात सच है।

पुलिस ने पेपर लीक कराने के इस मामले में रंजीत मंडल को ओडिशा के क्योंझर से गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से पेपर लीक कराने में प्रयोग किए गए मोबाइल सहित तीन अन्य मोबाइल बरामद किए गए हैं। उसने पेपर लीक कराने के मामले में अपनी जुर्म स्वीकार कर ली है। उम्मीद की जा रही है कि जेएसएससी जल्द ही इस परीक्षा को रद्द करने की अधिसूचना जारी कर सकता है।

जेएसएससी ने इस मामले में राज्य से कई शिकायतें मिलने के बाद रांची के नामकुम थाना में 15 जुलाई को FIR दर्ज कराई थी। आयोग के अध्यक्ष श्री त्रिपाठी ने इस मामले में राज्य के डीजीपी से मामले की जांच के लिए सख्त कदम उठाने की गुजारिश की थी। इसके बाद डी जेपी ने डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित की थी। इसी टीम ने रंजीत मंडल को 23 जुलाई को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि रंजीत मंडल ने पूछताछ मे पेपर लीक मामले में शामिल कई लोगों के नाम का खुलासा किया है। रांची ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि पूछताछ में कई लोगों की संलिप्तता के बारे में जानकारी मिली है। पुलिस उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.