रांची झारखंड कर्मचारी चयन आयोग(JSSC) ने झारखंड डिप्लोमा स्तरीय संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा को रद्द कर दिया है। 3 जुलाई को संपन्न हुई परीक्षा रांची, बोकारो और पूर्वी सिंहभूम के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित की गई थी। परीक्षा की अगली तिथि शीघ्र जारी की जाएगी। इसकी सूचना आयोग के परीक्षा नियंत्रक के हस्ताक्षर से जारी किया गया है।

झारखंड में1289 जूनियर इंजीनियरों की होनी थी नियुक्ति

आयोग ने 3 जुलाई को रांची, बोकारो एवं पूर्वी सिंहभूम के विभिन्न केंद्रों पर डिप्लोमा स्तरीय प्रतियोगिता परीक्षा ओएमआर (OMR)सीट पर ली थी। पूर्व में सीबीटी (CBT) मोड में परीक्षा लेने की बात कही गई थी। अभ्यर्थियों ने परीक्षा के पूर्व प्रश्न पत्र लीक होने का आरोप लगाया था। लेकिन बोकारो के विभिन्न केंद्रों पर केंद्र अधीक्षकों और JSSC ने अभ्यर्थियों की शिकायतों पर कोई ध्यान नहीं दिया। नियुक्ति प्रक्रिया के तहत जल संसाधन विभाग, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, कृषि अभियंत्रण एवं नगर विकास विभाग में सिविल यांत्रिक एवं विद्युत के डिप्लोमा स्तरीय 1289 जूनियर इंजीनियर की नियुक्ति होनी थी।

इसी महीने 3 जुलाई को हुई थी परीक्षा

जेएसएससी (JSSC) ने 3 जुलाई को ओएमआर आधारित परीक्षा ली थी। परीक्षा के बाद आयोग ने औपबंधिक उत्तर कुंजी प्रकाशित कर अभ्यर्थियों से एक 11 जुलाई की मध्यरात्रि तक आपत्ति भी प्राप्त की थी। इस बीच अभ्यर्थियों ने आयोग को लिखित रूप से पेपर लिक की शिकायत करते हुए परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी। इसके लिए धरना प्रदर्शन भी किया गया था।बाद में अभ्यर्थियों ने नामकुम थाना में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया गया इसकी जांच रिपोर्ट आयोग को भेज दी थी।

सर्व प्रथम अभ्यर्थियों ने ही लगाया था पेपर लिक का आरोप

अभ्यर्थियों द्वारा डिप्लोमा स्तरीय प्रतियोगिता परीक्षा में पेपर लिक का आरोप लगाते हुए परीक्षा रद्द करने की मांग की थी। अभ्यर्थियों ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री एवं जेएसएससी अध्यक्ष को ज्ञापन भी सौंपा था। परीक्षा के पूर्व प्रश्नों के उत्तर विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुप में वायरल हुआ था। व्हाट्सएप नंबर 74881 21791 से प्रश्न पत्र के उत्तर वायरल हुए या किए गए थे। एमजीएम बोकारो समेत विभिन्न केंद्रों पर बुकलेट दोहरे सील अथवा बिना सील के पाए गए थे। नियुक्ति विज्ञापन में परीक्षा सीबीटी मोड में लेने की बात कही गई थी लेकिन अचानक से ओएमआर सीट पर परीक्षा ली गई ।अभ्यर्थियों ने यह भी आरोप लगाया था कि विभिन्न गिरोहों द्वारा अभ्यर्थियों से फोन पर 18 से 20 लाख रुपए तक की मांग की जा रही है। इसका ऑडियो क्लिप भी वायरल होने की बात कही गई थी

Leave a comment

Your email address will not be published.