नई दिल्ली : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंड टूरिज्म पॉलिसी 2021 को लॉन्च कर दिया । उन्होंने कहा कि झारखंड को लोगों ने अब तक सिर्फ अलग-अलग तरह के खनन के लिए जाना है। अब झारखंड को प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक स्थल के रूप में भी जानेंगे। झारखंड प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक स्थल का प्रदेश है ।इस मौके पर उन्होंने देश और विदेश के लोगों को झारखंड घूमने के लिए आने का न्योता दिया। साथ ही कहा कि प्रदेश में नक्सली मूवमेंट ना के बराबर है वह दिन दूर नहीं जब जंगल की वादियों से पर्यटकों के हंसी ठिठोली सुनाई देगी, गोलियों की आवाज कहीं से भी आने की उम्मीद नहीं रहेगी। जितने भी पर्यटक रहेंगे सभी अपने आप को सुरक्षित और खूबसूरत वादियों के बीच पाएंगे।

झारखंड पर्यटन पॉलिसी 2021 लांच करते हुए

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा झारखंड की गुणवत्तापूर्ण खनिज संपदा को सभी जानते हैं। लेकिन झारखंड में बड़े पैमाने पर प्राकृतिक सौंदर्य धार्मिक स्थल का एक बहुत बड़ा क्षेत्र है। इस को ध्यान में रखकर पर्यटन के विभिन्न क्षेत्र में विभिन्न आयाम को जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। दार्शनिक स्थलों में जो धार्मिक स्थल है, उसको भी इसमें रखा गया है। माइनिंग टूरिज्म और प्राकृतिक सौंदर्य भी हमारे पर्यटन का एक हिस्सा होगा।

झारखंड ATTRACTION बनेगा EXTRACTION नहीं

मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा झारखंड को देखने का नजरिया EXTRACTION का रहा है अब ATTRACTION होगा क्योंकि राज्य के आदिवासियों की संख्या बहुत है। जंगल, पहाड़, नदी और झरनों से भरा हमारा राज्य खूबसूरत वादियों की सौंदर्य से भरा है। खूबसूरत वादियों की तलाश में दुनिया भर के पर्यटक देश दुनिया घूमते हैं। उन तक झारखंड के खूबसूरत वादियों की जानकारी नहीं पहुंच पाई है। कोशिश होगी जिस तरीके से अन्य राज्य पर्यटन के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में अपने आप को शामिल किए हुए हैं ,ऐसे में हमारा झारखंड प्रदेश भी इससे पीछे नहीं रहेगा। देश को आगे बढ़ाने में झारखंड प्रदेश की अहम भूमिका रही है अब पर्यटन के क्षेत्र से भी देश को आगे बढ़ाने में झारखंड अपनी भूमिका निभाएगा। पर्यटन के क्षेत्र में झारखंड को एक नई दिशा देने की कोशिश की जा रही है। यहां पर मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इसका पूरा लाभ मिलेगा। लोगों का आवागमन जब बढ़ेगा तो स्वाभाविक है कि बहुत सी चीजों का आदान-प्रदान भी होगा । पर्यटन के माध्यम से लोग भी जुड़ेंगे जब भी झारखंड की वादियां अब देखेंगे तो यह कुल्लू और मनाली की याद दिलाएगी।

झारखंड के कोने-कोने में है प्राकृतिक सुंदरता

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड में कोई भी उदाहरण ऐसा नहीं है जहां किसी पर्यटक के साथ अप्रिय घटना घटी है ना ही आगे कभी घटेगी। इसके अलावा जहां तक बिजली की बात है जब कोई रहता ही नहीं तो बिजली की क्या आवश्यकता है। जब लोग आएंगे, रहेंगे तो बिजली रहेगी, पुलिस रहेगी ,व्यवस्था भी रहेगी। जब लोग अपने घरों को खाली छोड़ रखेंगे तो स्वभाविक है कि वह ठीक नहीं रहेगा। झारखंड में पर्यटन की ओर से सभी का ध्यान अभी तक नहीं गया है। झारखंड पर्यटन पर अब तक किसी ने ध्यान नहीं दिया है इसे हम प्राथमिकता से ले रहे हैं। साथ ही कहा की पर्यटन से हर वर्ग के लोगो को लाभ मिलेगा मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि पूरी दुनिया में चर्चा हो रही है ग्लोबल वार्मिंग की क्योंकि आग में पूरी दुनिया झुलस रही है । दिल्ली में गर्मी के जो हालात है, झारखंड आए तो पता चलेगा कि अब दोबारा दिल्ली नहीं जाना है।

झारखंड पतरातु के सड़क मार्ग का सौंदर्य

खेल और कला के क्षेत्र में यहां असीम संभावना है

मुख्यमंत्री ने कहा खेल और कला के क्षेत्र में यहां असीम संभावनाएं हैं। धोनी जैसे क्रिकेटर झारखंड से आते हैं। सलीमा टेटे जैसे हॉकी खिलाड़ी भी झारखंड से आती है जो सीमित संसाधनों में देश का प्रतिनिधित्व दुनिया में कर रही है। कला क्षेत्र में अभी हाल में ही फेमिना मिस इंडिया के ग्रैंड फिनाले में रिया तिर्की ने हिस्सा लिया है इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि हमारे राज्य के युवा हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं। सरकार पूरी दक्षता के साथ में पर्यटन को आगे बढ़ाने का काम कर रही है जहां पर पहले आओ पहले पाओ के आधार पर निवेशकों को स्पेशल पैकेज मिलेगा । टूरिज्म पॉलिसी में निवेश को कई तरह के इंसेंटिव दिए जा रहे हैं । जैसे कैपिटल इन्वेस्टमेंट पर 10 करोड़ की लिमिट तक 20 से 25प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। 5 वर्षों तक नेट स्टेट जीएसटी का 75 फीसदी की छूट दी जाएगी। 5 वर्षों तक स्टैंप ड्यूटी और इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी नहीं लगेगी। महिलाओं, एससी-एसटी एवं दिव्यांगों के लिए पॉलिसी में विशेष सुविधा है। निवेश और इंसेंटिव के लिए सिंगल विंडो सिस्टम बनाया गया है। वहीं इस मौके पर विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, सचिव पर्यटन अमिताभ कौशल, निदेशक उद्योग जितेंद्र कुमार सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.