रांची। झारखंड के एक दो स्कूल नहीं पूरे 407 स्कूल गुपचुप तरीके से स्वयंभू उर्दू विद्यालय बन गये थे। झारखंड विधानसभा में सरकार ने अपने जवाब में स्वीकार किया है कि प्रदेश के 407 स्कूल के नाम में उर्दू जोड़ दिया गया था। इसे हटाने का आदेश दिया गया है। राज्य सरकार ने ये भी बताया कि 350 स्कूलों से उर्दू शब्द हटाया भी जा चुका है। वहीं 509 वैसे स्कूल थे, जहां रविवार की जगह पर शुक्रवार को छुट्टी दी जा रही थी।

राज्य सरकार ने बताया कि उन स्कूलों में अब नियम के मुताबिक रविवार को फिर से अवकाश दिया जा रहा है। उर्दू विद्यालय को छोड़कर बाकी के सभी स्कूलों में रविवार को ही अवकाश का आदेश दिया गया है। जो भी इस आदेश को लागू कराने में व्यवधान पैदा करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

इससे पहले भाजपा विधायक अनंत कुमार ओझा ने विधानसभा में स्कूलों के नाम में ऊर्दू शब्द जोड़ने तथा शुक्रवार को छुट्टी देने का मामला उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि शिक्षा का इस्लामीकरण किया जा रहा है। जवाब में संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि गैर उर्दू स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी देने का मामला सेज्ञान में आते ही कार्रवाई की गयी है। सभी उपायुक्तों को पत्र भेजा गया है, कि स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी के लिए दवाब बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाये।  

Leave a comment

Your email address will not be published.