मोहाली : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आज 20 सिंतबर को मोहाली में 3 मैचों की फटाफट फॉरमेट का पहला मुकाबला खेला जाएगा। यह सीरीज दोनों टीमों के लिए विश्व कप से पहले अपने तैयारियों को अंतिम रूप देने और बेस्ट टीम संयोजन को उतारने की परीक्षा है। हालाँकि मेजबान टीम के कुछ खिलाड़ी को विश्व कप के पहले इन सिरीज़ के लिए आराम जरूर दिया गया है, फिर भी भारत लगभग अपने प्रमुख और मजबूत टीम के साथ ही मैदान में उतरने को तैयार है।

भारतीय टीम में तेज गेंदबाज हर्षल पटेल और जसप्रीत बुमराह की वापसी हुई है, जिससे गेंदबाजी आक्रमण मज़बूत हुआ है। अब देखना यह होगा कि टीम संयोजन में प्रबंधन 5 गेंदबाज ही चयन करता है या छठे गेंदबाज को स्थान मिलता है। जहाँ तक तेज़ रफ़्तार के गेंदबाज़ों का सवाल है तो यह तो पक्का ही है कि बुमराह, भुवी, हर्षल और हार्दिक ही टीम का हिस्सा हो सकते है। इनके अलावे स्पीनर्स के रूप में अक्षर और चाहल को टीम में शामिल किया जा सकता है।


विकेटकीपर पर संसय

जडेजा की आ अनुपस्थिति से टीम में एक बाएं हाथ का बल्लेबाज भी कम हुआ है। इस वजह से पंत को दिनेश कार्तिक पर तरहीज दी जा सकती है। कार्तिक को टीम में एक फिनिशर की भूमिका के लिए रखा गया है, परंतु पिछले कुछ मैचों में बमुश्किल ही उनको बैटिंग करने का मौका मिल पाया है। ऐसे में प्रबंधन उन्हें अगले कुछ मैचों में मैदान में उतार सकता है।

मेहमान टीम के कुछ प्रमुख खिलाड़ी नदारद

दूसरी तरफ मेहमान ऑस्ट्रेलिया के कुछ खिलाडी इस सीरीज का हिस्सा नही है। डेविड वार्नर को विश्व कप को देखते हुए विश्राम दिया गया है। तो वही मिचेल स्टार्क, मिचेल मार्श और मार्कस स्टोइनिस को चोट से उबरने के वक़्त दिया गया है। इसके अलावे सभी का ध्यान कैप्टन एरोन फिंच पर भी टिकी रहेंगी। जिन्होंने अपने लचर फॉर्म की वजह से हाल ही में वनडे फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। ऐसे में वे इस सीरीज के जरिये विश्व कप से पहले फॉर्म में वापसी करने की सोचेंगे।

मैदानी आँकड़े भारत के पक्ष में

भारत और ऑस्ट्रेलिया ने आपस में कुल 23 टी-20 मुकाबले खेले हैं, जिसमे से भारत 13 तो कांगरू ने 9 मुकाबले अपने नाम किये हैं। तो वही 1 मुकाबले बेनतीजा रहा था। मोहाली की बात करे तो पिछले 13 सालों से टीम इंडिया ने यहाँ खेले 3 टी-20 मुकाबलों में एक भी नही गबाया है, इनमे से एक मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी खेला है। भारत का जीत प्रतिसत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 59.09 का है। भारत-ऑस्ट्रेलिया ने 9 दफ़ा आपस में अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेली है, जिसमे भारत ने 4 तो ऑस्ट्रेलिया ने 2 सीरीज पर अपना कब्जा किया है, वही 3 सीरीज ड्रा रही।

क्रिकेट के इस फटाफट फॉर्मेट में भले ही भारत ऑस्ट्रेलिया पर बीस साबित हुआ है, परंतु इस छोटे फॉर्मेट में कब बाज़ी पलट जाए कहा नही जा सकता। दोनों टीमों को अपनी पिछली गलतियों को सुधारने का मौका इस सीरीज में मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.