धनबाद जिले के चर्चित जज उत्तम आनंद की मौत मामले में आज उनकी पुण्यतिथि पर फैसला आ सकता है।अदालत में इस मामले पर स्पीडी ट्रायल पूरी हो चुकीं है।अब सबकी नजर कोर्ट के फैसले पर टिकी है।आज ही दिवंगत जज उत्तम आनंद 28 जुलाई उनकी मौत की पुण्यतिथि भी है इस कारण से पूरे प्रदेश भी फैसले का इंतजार कर रहे हैं।

बता दें कि आज ही के दिन 28 जुलाई 2021 को सुबह सुबह जज उत्तम आनंद की ऑटो से टक्कर हुई थी। बाद में जज की मौत हो गई थी। धनबाद के सीबीआई के विशेष न्यायाधीश रजनीकांत पाठक की अदालत ने इस मामले का स्पीडी ट्रायल किया। 5 महीने में 58 गवाहों का बयान दर्ज किया गया। अदालत ने मंगलवार को सुनवाई के लिए 28 जुलाई 2022 की तारीख जजमेंट के लिए निर्धारित कर दी। सीबीआई क्राइम ब्रांच के स्पेशल पीपी अमित जिंदल ने कुल 169 गवाहों में से 58 गवाहों का बयान दर्ज कराया था। सीबीआई ने दावा किया कि आरोपित लखन वर्मा एवं राहुल वर्मा ने जानबूझकर जज साहब को टक्कर मारी थी,जिससे उनकी मौत हो गई ।

क्या था मामला

सुबह सुबह उत्तम आनंद 28 जुलाई 2021 को घर से मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे। धनबाद के रणधीर वर्मा चौक पर मॉर्निंग वॉक के दौरान एक ऑटो ने उन्हें धक्का मारा था। घटनास्थल महज उनके आवास से कुछ ही मीटर की दूरी पर थे ।अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। घटना की सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद ऑटो से जानबूझकर धक्का मारने का शक हुआ। इस घटना को सुप्रीम कोर्ट और झारखंड हाईकोर्ट ने स्वत संज्ञान लिया। झारखंड सरकार की अनुशंसा पर मामले की जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंप दी गई। पहले झारखंड सरकार द्वारा गठित एसआईटी ने मामले की जांच की इसके बाद 4 अगस्त 2021 को सीबीआई को जांच सौंप दी गई। 20 अक्टूबर को सीबीआई ने ऑटो में मौजूद दोनों आरोपी के विरुद्ध हत्या का आरोप लगाते हुए चार्ज सीट दायर किया था। वहीं सीबीआई ने हत्या के अलावा ऑटो चोरी और मोबाइल चोरी की दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज की थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.