रांची। स्कूलों के उर्दू और गैर उर्दू का विवाद खत्म होता नहीं दिख रहा है। झारखंड विधानसभा के बाद अब ये मामले में लोकसभा में उठा। गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा में दावा किया कि झारखंड में 1800 स्कूल ऐसे हैं, जहां रविवार के बजाय शुक्रवार को छुट्टी हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि झारखंड में इस्लामीकरण का प्रश्रय दिया जा रहा है।

शुन्यकाल में निशिकांत दुबे ने मामले को उठाते हुए कहा कि इस मामले की NIA से जांच होनी चाहिये। दुबे ने कहा कि झारखंड में हो रहे इस्लामीकरण की तरफ सदन का ध्यान दिलाना चाहता हूं। राज्य के कुछ जिलों में जनसंख्या का संतुलन बदल गया है। बांग्लादेश निकट है, इसलिए ऐसा हो रहा है। उनके मुताबिक अचानक देखने में आया कि झारखंड में 1800 ऐसे स्कूल हैं, जहा स्कूल में नाम के आगे उर्दू को जोड़ा और स्कूल में रविवार के बजाय शुक्रवार को छुट्टियां देनी शुरू कर दी गयी।

निशिकांत दुबे ने इस मामले में जांच की मांग उठाते हुए कहा कि देश इस्लामीकरण की तरफ बढ़ रहा है और झारखंड उसे रास्ता दे रहा है। इसकी एनआईए से जांच होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलो को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ कड़ाई से कार्रवाई होनी चाहिये। वहीं भाजपा सांसद जयंत सिन्हा ने झारखंड के पिछड़ेपन का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ये सुनिश्चित कराये कि किसानों को बकाया मिले और ब्याज भी मिले।

Leave a comment

Your email address will not be published.