High Uric Acid: आज के समय में यूरिक एसिड की बीमारी बड़ी कॉमन हो गई है, जिसकी वजह से पुरानी बीमारियां जन्म ले लेती हैं. खराब लाइफस्टाइल, खराब खान पान, पानी का कम सेवन और कैलोरी से भरपूर खाने का सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है. दरअसल, यूरिक एसिड शरीर में एक गंदगी की तरह जमा हो जाता है. शरीर के खून में अगर यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाए तो उससे जोड़ों की दिक्कत, किडनी की बीमारी, दिल के दौरे जैसी खतरनाक बीमारियां भी हो सकती हैं. कई बार ऐसा भी होता है कि यूरिक एसिड शरीर में क्रिस्टल का रूप ले लेता है और धीरे धीरे जोड़ों के आसपास जमा होने लगता है. जिसके कारण जोड़ों में दर्द की समस्या होने लगती है. 

यूरिक एसिड की समस्या होने पर जोड़ों में दर्द, घुटनों में दर्द, एडी में दर्द और सूजन होने लगती है। ऐसे लोगों को गठिया जैसी हड्डियों की बीमारी होने का खतरा ज्यादा रहता है। जब शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने लगता है तो किडनी इसे फिल्टर कर पूरी तरह से बाहर नहीं निकाल पाती है। ये यूरिक एसिड जोड़ों और सेल्स में जमा होने लगता है, जिसकी वजह से न सिर्फ जोड़ों में दर्द और सूजन आने लगती है बल्कि कई दूसरी गंभीर बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। जानते हैं यूरिक एसिड बढ़ने पर कौन सी बीमारियां हो सकती हैं?

हाई यूरिक एसिड से कौन सी बीमारी होती हैं? (Diseases Caused By High Uric Acid)

प्यूरीन नामक प्रोटीन से शरीर में यूरिक एसिड बनता है। जब हाई प्रोटीन डाइट का सेवन ज्यादा करते हैं और फिजिकल एक्टिविटी कम होती है तो प्यूरीन की मात्रा बढ़ जाती है। इस तरह के फूड्स खाने से यूरिक एसिड बढ़ने लगता है। डॉक्टर्स की मानें तो शरीर में बनने वाले यूरिक एसिड का 60 से 65 प्रतिशत हमारी किडनी बाहर निकाल देती है। बचा हुआ यूरिक एसिड पित्ता और आंतों के रास्ते बाहर निकल जाता है। हालांकि जब किडनी यूरिक एसिड को नहीं निकाल पाती है तो ये जोड़ों में जमा होने लगता है। इससे हार्ट, किडनी और लिवर से जुड़ी बीमारियां भी हो सकती हैं।

  1. गठिया (Gout)- हाई यूरिक एसिड के मरीज को गठिया होने का खतरा बढ़ जाता है। जब शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ती है तो ये जोड़ों में जमा होने लगती है। इससे जोड़ों में दर्द, सूजन और लालिमा जैसी समस्या होने लगती है। पैर, घुटनों और पैर के अंगूठे- उंगलियां सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं।
  2. पथरी (Kidney Stones)- शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के कारण किडनी में पथरी होने का खतरा भी बढ़ जाता है। यूरिक एसिड में क्रिस्टल्स की मात्रा होती है जो पथरी का कारण बनते हैं। पथरी होने पर ये क्रिस्टल्स पेशाब के रास्ते में जमा हो जाते हैं जो गंभीर परेशानी खड़ी कर सकते हैं।
  3. डायबिटीज (Diabetes)- यूरिक एसिड बढ़ने पर शरीर में इंसुलिन भी प्रभावित होता है। जिससे डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। हाई यूरिक एसिड की वजह से इंसुलिन बनना और उसकी सप्लाई प्रभावित होती है। ऐसे में शुगर की बीमारी का खतरा पैदा हो सकता है।
  4. हार्ट की बीमारी (Heart Disease)- जब शरीर में यूरिक एसिड हाई होता है तो इससे ब्लड का रोटेशन बढ़ जाता है। ऐसी स्थिति हार्ट के लिए खतरनाक हो सकती है। इससे नसों और धमनियों को नुकसान हो सकता है।

शरीर में हाई यूरिक एसिड के ये हैं कारण

रात में ज्यादा खा लेना
खराब लाइफस्टाइल
पानी का कम सेवन
ठीक समय पर न खाना और न सोना
ज्यादा नॉन वेज खाना
स्ट्रेस 

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...