नयी दिल्ली । बच्चों की पसंदीदा 10 रूपये वाली फ्रूटी बंद हो सकती है। फूटी के अलावे 10 रूपये वाली और भी जूस ड्रिक अब मार्केट में मिलना बंद हो सकता है। दरअसल सरकार ने 1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन लगा दिया है। मतलब ये हुआ कि जो भी प्लास्टिक के चम्मच, कटोरी, कप-गिलास व स्ट्रा बंद हो जायेंगे। ऐसे में साफ्ट ड्रिंक बनाने वाली कंपनियों को 10 रूपये वाले पैक की कीमत बढ़ने की चिंता है।

FROOTI, SLICE, REAL, MAAZA, TROPICANA  जैसे साफ्ट ड्रिंक ट्रेटा पैक में बाजार में उपलब्ध हैं। ये ट्रेटा पैक 10 रूपये में बाजार में उपलब्ध होता है। ट्रेटा पैक में स्ट्रा पीने के लिए दिया जाता है। अब स्ट्रा के बंद होने से ना सिर्फ साफ्ट ड्रिंक, बल्कि जूस के साथ भी स्ट्रा दिया जाता है, ऐसे में अब उन तमाम उत्पादों के कीमत बढ़ने की आशंका तो है ही, कई उत्पाद के बंद होने की भी अटकलें लग रहे हैं।

हालांकि प्लास्टिक स्ट्रा के बंद होने के बाद पेपर स्ट्रा एक विकल्प है, लेकिन भारत में इसका आयात करना होगा, लेकिन बड़े पैमाने पर इसकी आपूर्ति भारत नहीं करता है। ऐसे में भारत को इंडोनेशिया, चीन, मलेशिया से इसे आयात करना होगा। कंपनी में इस बात को लेकर चर्चा चल रही है कि या तो उन्हें 10 रूपये की कीमत को 2-3 रूपये बढ़ाना होगा या फिर उन्हें इस पैक को बंद करना होगा।

FROOTI कंपनी ने सरकार से इस बैन को 6 महीने के लिए बढ़ाने की मांग की है। कंपनी के सीईओ एस चौहान ने कहा है कि इस बैन को टालने से पैकेजिंग कंपनियों को घरेलू स्तर पर पेपर स्ट्रा बनाने के इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने में मदद मिलेगी। डाबर, पारले, एग्रो, कोकाकोला मिलकर प्लास्टिक स्ट्रा वाले करीब 6 अरब जूस पैक बेचती है। इनमें से 60 प्रतिशत इन्ही छोटे पैकेट की सेल में आता है। पर्यावरण मंत्रालय ने अगस्त 2021 में ही 1 जुलाई 2022 से प्लास्टिंक के बैन होने की बात कह दी थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.