चंडीगढ़। …सिर्फ 2 घंटे में मंत्री से मुजरिम बन गये डा विजय सिंगला। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद स्वास्थ्य मंत्री विजय सांगला को ACB ने गिरफ्तार कर लिया है। पंजाब सरकार में मंत्री बने डा विजय सिंगला को अभी सवा दो महीने ही हुए थे। भ्रष्टाचार के मामले में फंसे डॉ सिंगला को आज ही मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने बर्खास्त किया था। मुख्यमंत्री ने बर्खास्तगी के साथ ही विजय सिंगला के खिलाफ FIR दर्ज करने के निर्देश दिया था।


मुख्यमंत्री के निर्देश के कुछ देर बाद ही एसीबी एक्शन में आ गयी और फिर मंत्री रहे विजय सिंगला को गिरफ्तार कर लिया। आरोप है कि मंत्री विजय सिंगला ने विभाग में टेंडर और अन्य कामों में 1 प्रतिशत कमीशन मांगा था। भ्रष्टाचार की ये शिकायत मुख्यमंत्री को मिली थी, जिसके बाद भगवंत मान ने इस मामले में अपने स्तर से जांच की। जांच में मंत्री के खिलाफ जो शिकायतें मिली थी, वो सब सही पायी गयी।
मुख्यमंत्री ने साक्ष्य मिलने के बाद आज सुबह मंत्री विजय सिंगला को भ्रष्टाचार के मामले में बर्खास्त करने के निर्देश दिये। मंत्रीमंडल से बाहर करने के साथ-साथ मुख्यमंत्री भगवंत मान ने तत्काल इस मामले में एफआईआर के निर्देश दिये थे। स्वास्थ्य मंत्री की बर्खास्तगी के बाद भगवंत मान ने कैबिनेट की बैठक बुलायी है। इस बैठक में नये स्वास्थ्य मंत्री को लेकर फैसला लिया जा सकता है।


गिरफ्तारी के बाद फिलहाल सिंगला को मोहाली के फेज 8 पुलिस थाने में रखा गया है। जहां सिंगला से विजिलेंस के सीनियर अफसर पूछताछ कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री अपने अधिकारियों से 1 प्रतिशत हिस्सा देने को कहा था। इस निर्देश के बाद मुख्यमंत्री ने खुद ही स्टिंग किया, जिसमें सिंगला फंस गये।

Leave a comment

Your email address will not be published.