रांची झारखंड राज्य के सभी विभागों में कार्य कर रहे लिपिकों की मांग वर्षों से लंबित रहने के कारण अब लिपिक संवर्ग संघर्ष करने को तैयार हो रहे हैं। ग्रेड पे बढ़ोतरी सहित अन्य मांग पर सरकार ने अबतक ध्यान नही दिया है। झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ द्वारा लिपिकों की समस्या के जल्द निदान हेतु झारखंड राज्य मुफ्फसिल -समाहरणालय अनुसचिवीय कर्मचारी संघर्ष समिति का गठन किया गया।

क्यों हुआ संघर्ष समिति का गठन:

“झारखंड राज्य मुफ्फसिल- समाहरणालय अनुसचिवीय कर्मचारी संघर्ष समिति “झारखंड राज्य के सभी विभागों के लिपिकों की नियुक्ति वर्ष से 2400 ग्रेड पे एवम मुफ्फसिल-समाहरणालय लिपिकों को सचिवालय लिपिकों की भांति प्रोन्नति की मांग सहित अन्य मांग के समर्थन में संघर्ष समिति कार्य करेगी।

झारखंड राज्य मुफ्फसिल समाहरणालय अनुसचिवीय कर्मचारी संघर्ष समिति

कौन बने प्रदेश संयोजक, कौन कौन थे मौजूद:

झारखंड राज्य अराजपत्रित कार्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री अशोक कुमार सिंह (नयन), राष्ट्रीय संगठन सचिव अशोक कुमार सिंह, झारखंड माध्यमिक शिक्षक संघ के सचिव राजेन्द्र प्रसाद, ओमव्रत झा,मुक्तेश्वर जी, अमरेश कुमार, मो कलम शेख, अनुज कुमार सिंह एवम अन्य की मौजूदगी में एक बैठक आयोजित की गई।

बैठक में सर्वसम्मति से झारखंड राज्य मुफ्फसिल- समाहरणालय अनुसचिवीय कर्मचारी संघर्ष समिति संघ का गठन किया गया एवम विकास कुमार सिन्हा को प्रदेश संयोजक का पद पर मनोनीत किया गया। बैठक में मौजूद सभी सदस्यो एवम पदाधिकारीयों ने तालियों की गड़गड़ाहट और माला पहनाकर विकास कुमार सिन्हा का स्वागत किया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.