नयी दिल्ली। आज उपराष्ट्रपति का चुनाव है। NDA के जगदीप धनखड़ और UPA की मार्गेट अल्वा के बीच मुकाबला है। आज ही वोटिंग भी होगी और आज ही परिणाम भी घोषित किया जायेगा। आंकड़ों के मुताबिक भाजपा की तरफ से घोषित प्रत्याशी जगदीप धनखड़ का जीतना लगभग तय है। उपराष्ट्रपति के चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए कम से कम 394 वोट की जरूरत होगी। जो भी उस आंकड़ों तक पहुंच जाता है, उसकी जीत हो सकती है।

जहां तक वोटिंग का सवाल है तो इस चुनाव हर सांसद का एक वोट गिना जाता है. लेकिन खेल ये रहता है कि सांसद को अपनी पसंद के आधार पर प्राथमिकता तय करनी होती है. मतलब जो ज्यादा पंसद वो पहले नंबर पर और जो कम वो दूसरे नंबर पर. अब इसी प्रक्रिया के आधार पर देखें तो एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ के खाते में अभी 396 वोट दिख रहे हैं, मतलब जितने की जरूरत है उससे ज्यादा उनके पक्ष में पहले ही जाते दिख रहे हैं. इसी वजह से इस चुनाव में जगदीप धनखड़ की जीत तय मानी जा रही है.

वर्तमान में बीजेपी के लोकसभा में 303 सांसद हैं और राज्यसभा में पार्टी के पास 93 सांसद हैं. उप राष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सांसद वोट डालते हैं. जो सदस्य मनोनीत होते हैं, उन्हें भी वोट डालने का अधिकार रहता है. ऐसे में वोटों की कुल संख्या 788 रहती है. इसमें लोकसभा के 543 वोट रहते हैं और राज्यसभा के 243, किसी को भी उप राष्ट्रपति का चुनव जीतने के लिए कम से कम 394 वोटों की जरूरत पड़ती है. जो भी इस आंकड़े तक पहुंच जाता है, उसकी जीत सुनिश्चित हो जाती 

Leave a comment

Your email address will not be published.