रांची। ऑल झारखंड पारा मेडिकल एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने स्वास्थ्य विभाग के नव नियुक्ति निदेशक प्रमुख से मुलाकात की। 4 जुलाई को राज्य सरकार ने डॉ मार्शल आइंद की जगह पर डॉ कृष्ण कुमार को स्वास्थ्य निदेशक की जिम्मेदारी सौंपी। प्रतिनिधिमंडल की इस औपचारिक मुलाकात के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों की समस्याओं को लेकर भी लंबी चर्चा हुई।


प्रदेश अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में पहुंची AJPMA के डेलीगेशन टीम जिसमे एसोसिएशन के महासचिव उपेंद्र कुमार सिंह,उपाध्यक्ष चंदन ठाकुर,संयुक्त मंत्री मनोज कुमार,गायत्री कुमारी,अजय कुमार शामिल थे, ने मलेरिया फंड से मिलने वाले स्वास्थ्यकर्मियों के नियमित वेतन भुगतान, स्वास्थ्यकर्मियों के लंबित प्रमोशन सहित कई अन्य मांगों की तरफ निदेशक प्रमुख का ध्यान आकृष्ट कराया। निदेशक प्रमुख ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि स्वास्थ्यकर्मियों की मांगों पर विभाग जरूर ध्यान देगा और उनकी परेशानियों को दूर करने का प्रयास करेगा।
इससे पहले AJPMA के प्रतिनिधिमंडल ने बुके देकर नये निदेशक प्रमुख का अभिनंदन किया।

डॉ कृष्ण कुमार को स्वास्थ्य विभाग के कार्यकाल के लम्बा अनुभव रहा है।चतरा जैसे सुदूर जिले, देवघर एवम अन्य जिलों के साथ साथ हज़ारीबाग़ के नए मेडिकल कॉलेज तक का अनुभव उनके साथ है।वर्त्तमान में स्वास्थ्य निदेशालय में पदस्थापित थे , अधिसूचना जारी कर उन्हें अपने कार्य के अतिरिक्त निदेशक प्रमुख का कार्य प्रभार सौंपा गया है।


कौन है कृष्ण कुमार

डॉ कृष्ण कुमार

को स्वास्थ्य विभाग के कार्यकाल के लम्बा अनुभव रहा है।चतरा जैसे सुदूर जिले के साथ साथ हज़ारीबाग़ के नए मेडिकल कॉलेज तक का अनुभव उनके साथ है।वर्त्तमान में निदेशालय में पोस्टेड थे। वो विभाग में अपनी बेहतरीन कार्यशैली और तत्परता के लिये जाने जाते हैं।


पूर्व निदेशक प्रमुख का बेहतर रहा था कार्यकाल

पूर्व निदेशक प्रमुख मार्शल आइंद रिटायर हो गये हैं

। उन्हे कोरोना काल में एक्सटेंशन मिला था। जानकारी के मुताबिक कई माह पूर्व ही डॉ मार्शल आइन्द सेवा निवृत्त हो गए थे।परंतु कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण राज्य भर के चिकित्सक को सेवा विस्तार देकर सेवा निवृति की अवधि बढ़ा दी गई थी जिस कारण डॉ मार्शल अब तक निदेशक प्रमुख के पद पर बने हुए थे। बतौर निदेशक प्रमुख उनका कार्यकाल बेहतर था।

Leave a comment

Your email address will not be published.