बिहार में कोरोना वायरस (Bihar Coronavirus) के मामले एक बार फ‍िर तेजी से बढ़ने लगे हैं।पटना में कोरोना विस्‍फोट हो गया है. पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 44 नए मामले सामने आए हैं. इसमें से 27 केवल पटना में म‍िले हैं. इसी के साथ सूबे में एक्टिव केस की संख्या 104 पहुंच गई है. पटना के अलावा गया -6, पश्‍च‍िम चंपारण -4, बेगूसराय भागलपुर, दरभंगा और खगड़िया- 1-1 मरीज मिले हैं.

सोमवार से मंगलवार के बीच किए गए 1.33 लाख टेस्ट में 26 रिपोर्ट पाजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को जारी रिपोर्ट में बताया कि सोमवार से मंगलवार के बीच विभिन्न जिलों को मिलाकर 133019 कोविड टेस्ट किए गए। पटना से 17 समेत 27 रिपोर्ट पाजिटिव पाई गई। कोरोना संक्रमण के 28 नए मामले मिलने के बाद प्रदेश में इस बीमारी के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 137 हो गई है। इस बीच पहले से संक्रमित रहे 17 कोरोना मरीज स्वस्थ भी हुए हैं।

हर आयुवर्ग के लोगों को चपेट में ले रहा है कोरोना

बहुत दिन बाद एम्स पटना में भी आरटी-पीसीआर जांच में कई लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार संक्रमितों में 2 से 94 वर्ष तक के लोग शामिल हैं। अधिकतर मरीज कंकड़बाग, नेहरू नगर, बेली रोड, पाटलिपुत्र आदि इलाकों के निवासी हैं। वहीं पूर्व की लहरों में संवेदनशील रहे पटनासिटी, खाजपुरा, दीघा और राजेंद्र नगर जैसे क्षेत्रों में अबतक कोरोना के इक्का-दुक्का मरीज ही मिले हैं।

सिर्फ दो अस्पताल में

सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी सिंह ने बताया कि जिले में कुल पॉजिटिव मरीजों में सिर्फ दो का इलाज पटना एम्स अस्पताल में चल रहा है. बाकी सभी 103 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

कोरोना को देखते हुए जिले के ग्रामीण इलाकों के सरकारी अस्पतालों में भी इलाज की व्यवस्था बेहतर की जा रही है. कोरोना मरीजों के लिए पीएचसी से अनुमंडलीय अस्पतालों तक में दो से पांच बेड चिह्नित कर लिये गये हैं. वहीं, इन अस्पतालों में ऑक्सीजन के सिलिंडर नये सिरे से भर कर भेजे गये हैं. ऑक्सीजन सप्लाइ की व्यवस्था को दुरुस्त कर लिया गया है. हालांकि, कोरोना के जो मरीज इन दिनों आ रहे हैं, लगभग सभी होम आइसोलेशन में ही रह कर ठीक हो चुके हैं. जिले में हर दिन पांच से छह हजार सैंपलों की जांच हो रही है. इनमें करीब आधी जांच आरटीपीसीआर से और आधी रैपिड एंटीजन किट से होती है..

Leave a comment

Your email address will not be published.